Category - लेख साहित्य

लेख साहित्य

मेरे जन्मदिन पर – मुझे यह चाहिए।

आप सबका साथ चाहिए। सर पर मेरे हाथ चाहिए। हिलमिलकर सभी रहते रहे। झिलमिल कर यूं हंसते रहे। सबके चहरो का नूर चाहिए। और बहारो का हुर चाहिऐ। सुंदर छोटा सा संसार हो...

लेख साहित्य

“पल में सब बरबाद हुए”

गाडी -बंगला , कपड़े- गहने, पैसे-रूपये,श्राद्ध हुए। कल तक हंसते खेलते घर थे,पल में सब बरबाद हुए। साँसो की मणिका को पकड़े जीवन माला फेर रहा, मानव से मानव की...

लेख साहित्य

जागृत हनुमान

जांबवान ने कथा सुनाई, हनुमत को साभार। कार्य कौन सा ऐसा जग में, जिसका नहीं करार। राम काज हित जन्म लिए हो, जागो ऐ हनुमान। जाग गए तब पवनपुत्र जी, लांघ गये पल...

लेख साहित्य

कविता: ” घर “

किसी का है छोटा घर किसी का है विशालकाय घर छोटा है या बडा मायने नहीं रखता पर हाँ मायने रखता है वास्तव में हम घर को घर बना पाए या बना पाए मात्र एक भवन क्योंकि:...

देश-दुनिया मनोरंजन लेख साहित्य

स्वाध्याय और यायावरी की अनूठी मिसाल राहुल सांस्कृतायन की जयंती पर विशेष।

इंडिया समाचार 24 नवीन शर्मा कोई व्यक्ति अपने जीवन में स्वाध्याय और लगन से कितना आगे बढ़ सकता है उसकी शानदार मिसाल पंडित राहुल सांस्कृतायन। महज आठवीं कक्षा तक...

लेख साहित्य

पवन पुत्र बन कर आए।

पवन पुत्र बन कर आए। आप वानरराज कहलाए। शंकर के अवतार यहां पर। रामकाज करने को आए। दीन दुःखीयो के आप हे रक्षक। और पापी को.मार भगाए। पल मे लांघ सागर तुम गये। सीता...

लेख साहित्य

“हर सुन्दर मानव इक योधा “

(वीर छंद) लिये करध्वज अरु उत्साह, चल देता है सुन्दर मानव., अपने धुन में रहता मस्त, बिना किये परवाह किसी की., सिर्फ देखता अपना लक्ष्य, चलता जाता उसे वेधने...

लेख साहित्य

संकट हरेंगे हनुमान

*राम भक्त हनुमान* रूप अनेको धारण करते,,, असुरों के संहारक तुम।। अंजनी के राज दुलारे,, बुराई के महाविनाशक तुम।। अन्धेरा मिटा करो उजियारा ,, हनुमंत तुम महाबली ।।...

लेख साहित्य

शिवजी के 11वें रुद्रावतार हनुमानजी की_जयंती पर आप सभी को बहुत बहुत शुभकामनाएं।

ॐ हनुमते नमः श्री हनुमान जन्मोत्सव या हनुमान जयंती हिंदुओं का एक महत्वपूर्ण त्यौहार है, इसे भारत में वानर राज राम भक्त हनुमान जी के जन्म के उपलक्ष्य में मनाया...

लेख साहित्य

एक गीत निवेदित

प्रेम पंथ ~~~~~ मत पंथों से ऊँचे उठकर चलो!प्रेम सौहार्द बनाएं। जैसे गंगा यमुना धारा, निर्मल तन मन मित्र बनाएं। ~~~~~ भारत माँ के प्रेम दुलारे, एक धरा पर जन्मे...

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1351317
Hits Today : 5379