नई दिल्ली राजनीति

बंगाल की लड़ाई हुई और तेज, सत्ता परिवर्तन यात्रा के लिए भाजपा आज से दौड़ाएगी ‘रथ’

इंडिया समाचार 24
शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

नई दिल्ली। आज बात एक बार फिर पश्चिम बंगाल की सियासत पर होगी । जैसे-जैसे बंगाल का विधानसभा चुनाव नजदीक आता जा रहा है, भाजपा और तृणमूल कांग्रेस की लड़ाई भी तेज होती जा रही है । हालांकि अभी चुनाव होने में 2 से 3 महीने का समय है लेकिन आज ‘भाजपा 90 के दशक का अपना सबसे मजबूत सियासी फार्मूला अपनाने जा रही है’ । जी हां हम बात कर रहे हैं ‘रथ यात्रा’ की । आज से भाजपा के नेता बंगाल में सत्ता परिवर्तन को लेकर रथ पर सवार हो रहे हैं । शनिवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा परिवर्तन रथ यात्रा रवाना करने के लिए बंगाल पहुंचे हैं । बता दें कि बीजेपी का यह रथ पांच चरणों में बंगाल के अधिकांश नगरों में घूमते हुए राज्य के सभी 294 विधानसभा क्षेत्रों में पहुंचेगा । बीजेपी की इस रथयात्रा को लेकर तृणमूल कांग्रेस और ममता बनर्जी ने कड़ा एतराज जताया है । टीएमसी का कहना है कि भाजपा की इस परिवर्तन यात्रा से बंगाल में अशांति का माहौल बनेगा । लेकिन भाजपा केंद्रीय नेतृत्व से लेकर बंगाल के स्थानीय नेता रथयात्रा निकालने को लेकर जिद पर अड़े हुए हैं । शुक्रवार को पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी की परिवर्तन रथ यात्रा पर पुलिस ने स्पष्टीकरण मांगा उसके बाद रैली की इजाजत दी गई ।‌ बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि अगर बंगाल सरकार इस परिवर्तन यात्रा की इजाजत नहीं देती तो हमें भी ममता बनर्जी को जवाब देना आता है । रथ यात्रा को लेकर दोनों पार्टियों के बीच अब नया घमासान शुरू हो गया है ।

जेपी नड्डा के बाद पीएम मोदी-अमित शाह भी इसी सप्ताह बंगाल में गरजेंगे—–

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा बंगाल की धरती पर पहुंचकर राज्य की सत्ता परिवर्तन के लिए गरजेंगे । आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बीजेपी राज्य में फरवरी से मार्च तक रथ यात्राएं निकालकर समर्थन जुटाने का प्रयास करेगी । बता दें कि आज जेपी नड्डा बंगाल के नदिया जिले से रथयात्राओं को हरी झंडी दिखाने पहुंचे हैं । इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सात फरवरी, रविवार को हल्दिया जिले में पांच हजार करोड़ की परियोजनाओं का शुभारंभ करने आ रहे हैं, पीएम यहां एक रैली को भी संबोधित करेंगे । फिर 11 फरवरी को गृहमंत्री अमित शाह कूचबिहार से एक और परिवर्तन यात्रा को रवाना करेंगे । बंगाल के प्रभारी और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि ‘यह रथयात्रा नहीं परिवर्तन यात्रा हैै, यह बंगाल लोगों के मूल अधिकारों की रक्षा के लिए निकाली जाएगी’ । गौरतलब हैै कि 10 वर्ष पहले यानी ‘वर्ष 2011 में वामपंथियों की सरकार उखाड़ फेंकने के लिए ममता बनर्जी ने परिवर्तन नारे के साथ इसी तरह की यात्राएं निकाली थी, इस यात्रा का ममता को बंगाल में अपार जनसमर्थन मिला था उसके बाद तृणमूल कांग्रेस ने 34 साल पुरानी वाम दल की सरकार को सत्ता से उखाड़ फेंका था’ । अब बंगाल में भाजपा भी ममता सरकार को हटाने के लिए परिवर्तन यात्रा निकाल रही है । दूसरी ओर भाजपा की रथयात्रा के दौरान ही शनिवार को तृणमूल यूथ कांग्रेस नादिया जिले में बाइक रैली निकालेगी। पार्टी ने एलान किया है कि हजारों बाइक के साथ दो दिन तक जनसमर्थन यात्रा निकाली जाएगी।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाजपा के लिए दिया नया नारा–

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भारतीय जनता पार्टी की रथ यत्रा को लेकर जमकर निशाना साधा। उन्होंने बीजेपी को दंगाई पार्टी बताते हुए एक नया नारा भी दे डाला। मुख्यमंत्री बनर्जी ने आरोप लगाया कि बीजेपी टीएमसी से कुछ गद्दारों को लेकर बंगाल फतह करने का फार्मूला इस्तेमाल कर रही है ।’ ‘ममता बनर्जी ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस का विकल्प सिर्फ टीएमसी ही है’, बीजेपी के नेता दंगा चाहते हैं, जबकि हम शांति चाहते हैं। इस वजह से हमारा नारा है, ‘चाही न चाही न बीजेपी के चाही न, चाही न चाही न दंगा चाही न। चाही न चाही न लुटेरा चाही न, चाही न चाही न भ्रष्टाचार चाही न। उन्होंने कहा कि सोनार भारत को बर्बाद करने के बाद बीजेपी अब सोनार बांग्ला की बात कर रही है। ममता बनर्जी ने कहा कि राज्य में टीएमसी का कोई विकल्प नहीं है, हमारी जगह कोई नहीं ले सकता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री का कहना है कि भाजपा खतरनाक पार्टी है, उसने देश को बेच दिया।

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1247147
Hits Today : 1241