आगरा उत्तर प्रदेश क्राइम

आगरा पुलिस को अज्ञात के नाम बताने के बाद भी खुलेआम घूम रहे गुण्डे

आगरा। बीते दिनों इवेंट मैनेजर अमित तिवारी पर हुए हमले में एक और खुलासा, घटना वाले दिन 2 घंटे पहले शातिरों ने साहिल मलिक को निजी हॉस्पिटल पर घेर कर मारा था, साहिल इलेक्ट्रॉनिकस समान की सर्विस करता, जो बाइक घटना वाले दिन बरामद हुए है, उसी बाइक से लड़के साहिल की दुकान पर सिखायत करने आते है, और कंप्लेन कर अपना पता भी देकर जाते है, जब साहिल दिए गए पते पर जा रहा था, तो रास्ते मे उसको घेर कर मारा। जैसे तैसे जान बचाकर साहिल भागा, और अमित तिवारी को फ़ोन लगाया, अमित अपने संजय प्लेस अपने ऑफिस में था, उसने साहिल को कहा , थाने जाकर एफआईआर कराओ में आता हूँ, वह थाने होकर आया और अपने घर के बाहर रामबाग स्थित सीता नगर मंडी में अमित का इंतज़ार कर रहा था, अमित संजय प्लेस से रामबाग पहुंचे, वहां पहुंच कर सारी घटना की जानकारी ली, उसके बाद थाने जाने का डिसीजन लिया, थाने जाते हुए, रास्ते मे ही सब्जी मंडी स्तिथ मंदिर के सामने अमित की कार के आगे चल रही प्रिंस की एक्टिवा को हाथ दिया, यह देख अमित भी उतरा कार से और देखा कौन है,रोहित अवस्थी सामने नज़र आया, जबतक लगातार स्ट्रैट फायरिंग शुरू हो गयी पंकज शर्मा ने रोहित अवस्थी को सभी जानकारी दी, अभय यादव ने पहला फायर खोला, अभय का नाम पहले भी काफी ऐसे मेटर में आता रहा है, क्रिनिमिनल के साथ बैठना उठना है अभय का, अज्ञात लोगों में देवेश ठाकुर व यश का नाम भी क्लियर हो चुका है, सभी अपने आप सरेंडर कर रहे है, पुलिस ने अभी तक अज्ञात में किसी को न उठाया न कोई पूछ ताझ की। पूछ ताझ करने पर काफी बातें होंगी क्लियर की कहाँ से आये हथियार ,कहाँ हुई प्लानिंग, कौन था पूरे मामले के पीछे।

अमित के लगी गोली काफी अंदर थी और गोली लगने से एच. बी कम होने के कारण 6 दिन बाद आपरेशन हुआ, आपरेशन 2 से 3 घंटे के बीच चला, बड़ी मुश्किल से डॉक्टर्स ने गोली निकाली, अब थोड़ा आराम है, अमित को अब किसी निजी हॉस्पिटल भर्ती कराया गया है।

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1247155
Hits Today : 1369