उत्तर प्रदेश राजनीति लखनऊ

बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने बजट को सिरे से खारिज किया

लखनऊ: योगी सरकार ने 2021-22 और अपना आखिरी बजट सोमवार को यूपी विधानमंडल में पेश कर दिया. सरकार ने जहां साढ़े पांच लाख करोड़ के अब तक के सबसे बड़े इस बजट पेश किया वहीं विपक्ष की ओर से इस पर काफी नकारात्‍मक प्रतिक्रियाएं आई हैं. बीएसपी सुप्रीमो मायावती और सपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने बजट को सिरे से खारिज किया.

BSP सुप्रीमो मायावती ने दो ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि “यूपी विधानसभा में आज पेश बीजेपी सरकार का बजट भी केन्द्र सरकार के बजट की तरह ही यहाँ प्रदेश में खासकर बेरोजगारी की क्रूरता दूर करने हेतु रोजगार आदि के मामले में अति-निराश करने वाला है. केन्द्र सरकार की तरह यूपी के बजट में भी वायदे व हसीन सपने जनता को दिखाने का प्रयास किया गया है. यूपी की लगभग 23 करोड़ जनता के विकास की लालसा की तृप्ति के मामले में यूपी सरकार का रिकार्ड केन्द्र व यूपी में एक ही पार्टी की सरकार होने के बावजूद भी वायदे के अनुसार संतोषजनक नहीं रहा. खासकर गरीबों, कमजोर वर्गों व किसानों की समस्याओं के मामले में भी यूपी का बजट अति-निराशाजनक” रहा.

वहीं प्रयागराज दौरे पर गए समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि यह बजट सभी वर्ग को धोखा देने के साथ ही बिजनेसमैन को बढ़ावा देने वाला है. यूपी विधानसभा में आज पेश बीजेपी सरकार का बजट भी केन्द्र सरकार के बजट की तरह ही यहाँ प्रदेश में खासकर बेरोजगारी की क्रूरता दूर करने हेतु रोजगार आदि के मामले में अति-निराश करने वाला है. केन्द्र सरकार की तरह यूपी के बजट में भी वायदे व हसीन सपने जनता को दिखाने का प्रयास किया गया है. यूपी की लगभग 23 करोड़ जनता के विकास की लालसा की तृप्ति के मामले में यूपी सरकार का रिकार्ड केन्द्र व यूपी में एक ही पार्टी की सरकार होने के बावजूद भी वायदे के अनुसार संतोषजनक नहीं रहा. खासकर गरीबों, कमजोर वर्गों व किसानों की समस्याओं के मामले में भी यूपी का बजट अति-निराशाजनक है.

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1260447
Hits Today : 4934