नई दिल्ली राजनीति

बंगाल चुनाव के लिए कोलकाता में कल पीएम मोदी की रैली भाजपा की ‘दिशा’ भी तय करेगी

इंडिया समाचार 24
शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

नई दिल्ली। बंगाल चुनाव से पहले 7 मार्च रविवार भाजपा के लिए ताकत दिखाने के लिए अहम दिन माना जा रहा है। क्योंकि पार्टी के लिए कल कोलकाता की धरती पर बहुत कुछ ‘बड़ा’ करने की कोशिश होगी । बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा के सबसे बड़े ‘योद्धा’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी पूरी तैयारी के साथ रविवार को कोलकाता ही नहीं देश के सबसे बड़े ‘ब्रिगेड परेड ग्राउंड पर शक्ति प्रदर्शन’ के लिए तैयार हैं। इसके साथ भाजपा की चुनावी रैली बंगाल चुनाव के लिए ‘दिशा’ भी तय करेगी । पीएम की इस रैली के लिए पार्टी के कार्यकर्ता कई दिनों से पसीना बहाए हुए हैं । पांच राज्यों में चुनाव की घोषणा होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को कोलकाता पहली चुनावी रैली करने जा रहे हैं । मोदी की इस रैली को लेकर बंगाल से राजधानी दिल्ली तक राजनीतिक सरगर्मियां बढ़ी हुई हैैं । इस चुनावी जनसभा को लेकर बीजेपी जबरदस्त माहौल बनाने की कोशिश किए हुए है । भाजपा ने प्रधानमंत्री की इस चुनावी सभा के लिए 10 लाख लोगों की भीड़ जुटाने के लिए लक्ष्य रखा है । यही नहीं है फिल्म अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली के भी भाजपा में शामिल होने की निगाहें लगी हुई हैं । पीएम कोलकाता के जिस ब्रिगेड परेड ग्राउंड में रैली करने जा रहे हैं, आजादी के बाद यह ग्राउंड राजनीतिक दलों के लिए ताकत दिखाने का बड़ा केंद्र रहा है । ब्रिगेड ग्राउंड की देश के सबसे बड़े मैदानों में गिनती होती है। इस मैदान पर चाहे कितना भी बड़ा आयोजन क्यों न हो लेकिन कहीं न कहीं जगह खाली रह जाती है । कोलकाता का यह ग्राउंड मुंबई के शिवाजी पार्क और दिल्ली के रामलीला मैदान पॉलिटिकल पार्टियों के लिए पसंदीदा मैदान माना जाता है । यहां हम आपको बता दें कि 2014 और 2019 लोकसभा चुनाव के बाद प्रधानमंत्री मोदी यहां तीसरी बार रैली करने जा रहे हैं । भाजपा चाहती है कि नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री की इस रैली में इतनी भीड़ हो कि तृणमूल कांग्रेस सरकार ‘हिल’ जाए । बीजेपी ने एक बड़ी जनसभा की तैयारी की है और इसके लिए बकायदा चुनावी बैनर-पोस्टर तैयार किए हैं । वहीं पीएम मोदी की रैली में अगर कोलकाता का यह मैदान खाली रह जाता है तो भाजपा के लिए जरूर ‘घाटे का सौदा’ होगा । आइए अब जान लेते हैं इस मैदान के बारे में । ब्रिगेड परेड ग्राउंड का अपना ऐतिहासिक महत्व रहा है, 1857 में अंग्रेजों ने प्लासी की लड़ाई में जीत दर्ज करने के बाद कोलकाता में फोर्ट विलियम महल बनवाया था। इस किले में अंग्रेजों की फौज रहती थी। जिसकी परेड के लिए किले के सामने एक मैदान बनाया गया। जिसका नाम ब्रिगेड परेड ग्राउंड रखा गया। अभी यह ग्राउंड इंडियन आर्मी के अधीन है।

रैली में शामिल होने के लिए मिथुन चक्रवर्ती और सौरव गांगुली पर भाजपा का दबाव—

रविवार को कोलकाता के ब्रिगेड मैदान पर होने वाली पीएम मोदी की रैली में पार्टी एक बड़ा एलान कर सकती है । भाजपा चाहती है कि इस रैली में पीएम मोदी के मंच पर सितारों का जमघट लगे । प्रधानमंत्री की रैली में फिल्म अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली पर भाजपा का दबाव बना हुआ है । भाजपा की तरफ से सौरव गांगुली को पार्टी में शामिल करने की भरसक कोशिश की जा रही है । दूसरी ओर अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत की कोशिश हो रही है कि वह भाजपा का दामन थाम लें।
ऐसे में माना जा रहा है कि इस रैली में सौरव गांगुली ‘दादा’ और फिल्म अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती ‘दादा’ भाजपा ज्वाइन कर सकते हैं । यहां अब आपको बता दें कि मिथुन और गांगुली बंगाल में जनता के बीच बहुत लोकप्रिय हैं । लोग यहां उन्हें दादा कह कर बुलाते हैं । दोनों की बंगाल की जनता में अच्छी पैठ है। भाजपा इनकी लोकप्रियता को भुनाना चाहती है। मालूम हो कि अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती बंगाल में सत्तारूढ़ ममता बनर्जी की पार्टी से राज्यसभा सदस्य रह चुके हैं । इसके अलावा बांग्ला फिल्म अभिनेता प्रसेनजीत भी पार्टी में शामिल हो सकते हैं । भारतीय जनता पार्टी बंगाल चुनाव फतह करने के लिए राज्य के दिग्गज नेताओं व अभिनेताओं को अपने पाले में लाकर अपनी ताकत बढ़ा रही है। पार्टी हाईकमान बंगाल में ‘सोनार बांग्ला’ बनाने के लिए कोई कसर नहीं रखना चाहती है। अब बात करेंगे तो तृणमूल कांग्रेस की मुखिया और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की । दीदी पीएम मोदी की रैली को फ्लॉप करने में लगी हुईं हैं । कल जब प्रधानमंत्री कोलकाता में मंच से गरजेंगे तब उसी दौरान ममता बनर्जी भी हुंकार भरेंगी । बंगाल के चुनाव में बीजेपी बढ़त न ले सके, इसलिए सीएम ममता ने भी अपने प्रचार को धार देने के लिए सड़क पर उतरने की तैयारी कर ली है और इसके लिए ममता ने उत्तर बंगाल के सिलिगुड़ी में तृणमूल महिला कार्यकर्ताओं के साथ एलपीजी की बढ़ी कीमतें और महंगाई के मुद्दे पर रैली करेंगी । बता दें कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 8 चरणों में होगा और 27 मार्च को पहले चरण के वोट डाले जाएंंगे। आठवें और अंतिम चरण का मतदान 29 अप्रैल को होगा और चुनाव नतीजों का एलान 2 मई को किया जाएगा। बहरहाल रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ममता बनर्जी की रैली को लेकर देशभर की निगाहें लगी हैं।

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1186530
Hits Today : 1070
LIVE OFFLINE
track image
Loading...