लेख साहित्य

विश्व पर्यावरण दिवस पर हाइकु

हरित धरा
सुगंधित वसुधा
वृक्षारोपण!!

लगाओ वृक्ष
बुझे धरा की प्यास
बरसे मेह!

वृक्ष संतति
पुत्र से हितकारी
संजीवनी सी !

काटते वृक्ष
साँसों से खिलवाड़
आत्म हत्या सा !

रोती चिरैया
कहाँ बनाऊँ नीड़
कटे जंगल!

रोपिये पौध
वृक्ष परोपकारी
देंगे जीवन!

जल प्रबंध
मृदा का संरक्षण
हरित वन !

लुप्त जीवन
पछतायेगा इन्सा
वृक्ष दोहन!

सृष्टि बचायें
प्रदूषण रहित
हवा बनाये !

जल संचित
भविष्य सुरक्षित
धरा सिंचित!

निर्मित ताल
खग वृन्द चहके
धरा महके !

किरण मिश्रा स्वयंसिद्धा
नोयडा

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1186529
Hits Today : 1064
LIVE OFFLINE
track image
Loading...