आगरा उत्तर प्रदेश स्वास्थ्य

कोरोना से कैसे किया अपना बचाव आइये जानते है

आगरा। कोरोना वायरस का संक्रमण काफी तेज है, लेकिन कड़े नियम और बचाव का पालन करने से इससे बचा जा सकता है। ऐसा ही उदाहरण पेश किया राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के जिला कार्यक्रम प्रबंधक कुलदीप भारद्वाज और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के जिला सामुदायिक प्रक्रिया प्रबंधक डॉ. विजय सिंह ने। उन्होंने कोविड की पहली और दूसरी वेव में न केवल लगातार काम किया बल्कि अपना कोरोना से बचाव किया। यही कारण है कि दोनों अब तक कोविड की चपेट में नहीं आए हैं।

फील्ड पर कार्यकर्ताओं का बढाया उत्साह
डीसीपीएम डॉ. विजय सिंह ने बताया कि कोरोना की पहली और दूसरी लहर में हमने फील्ड पर जाकर काम किया। इस दौरान हमने कोरोना से बचाव के नियमों का कड़ाई से पालन किया। धूप हो गर्मी हमने अपना मास्क नहीं उतारा। इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइन को लगातार फॉलो किया। उन्होंने बताया कि पहली लहर के दौरान और बाद में सामान्य स्वास्थ्य सेवाएं शुरू हुई तो फील्ड पर जाने में कई साथी डर रहे थे। तब हम आगे आए और फील्ड पर उनके साथ गए। इससे उनमें उत्साह आया और उन्होंने अपना काम बखूबी किया। कोविड के दौरान भी एचबीएनसी कार्यक्रम आयोजित हुए। इस दौरान भी हम निरीक्षण के लिए फील्ड में जाते थे। लेकिन सुरक्षा का ध्यान रखा और काम किया। इससे हमें अब तक कोविड नहीं हुआ है।
डीपीएम कुलदीप भारद्वाज ने बताया कि स्वास्थ्य संबधी सेवाएं प्रभावित न हों। इसके लिए हमने और हमारी पूरी टीम ने काम किया। लेकिन इस बीच मास्क पहनना, हाथों को साफ रखना और शारीरिक दूरी का पालन करना जैसे मूलभूत उपायों का हमने पालन किया। इसके साथ ही जब वैक्सीनेशन शुरु हो गया तो हमने वैक्सीन भी समय से लगवा ली। यही कारण है कि अब तक हम लगातार काम भी कर रहे हैं और कोरोना से भी बचे हुए हैं। उन्होंने कहा कि यदि आप हर जगह पर कोरोना से बचाव के नियमों का पालन करेंगे और इसमें लापरवाही नहीं करेंगे तो कोरोना से बचाव संभव है।
डीपीएम कुलदीप भारद्वाज ने बताया कि उन्होंने कोविड की सभी रिपोर्टिंग का कार्य संपादित किया। पहली व दूसरी लहर में सरकारी व प्राइवेट कोविड अस्पताल में नियमित भ्रमण किया। स्वयं व परिवार से सभी सदस्यों को टेबलेट आईवीरमेक्टिन नियमित रूप से खिलाई व कोविड टीकाकरण की दोनों डोज लगवाईं।

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1209305
Hits Today : 352