लेख साहित्य

श्रावण मास भगवान शिव को अति प्रिय है

जय श्री राधेकृष्णा जी ।
श्रावण मास भगवान को अति प्रिय है । भगवान शिव महाकाल है एवं आशुतोष ( जल्द प्रसन्न होने वाले है ) देव शयनी एकादशी को जब भगवान श्री विष्णु जी क्षीरसागर में शयन करने चले जाते है उसके बाद सृष्टि संचालन भगवान शिव के हाथों में आ जाता है ।

कोरोना की तीसरी लहर आने वाली है इस लिए अपने लिए एवं अपने परिवार की रक्षा के लिए भगवान महाकाल से प्रार्थना करें । आप भगवान शिव के पंचाक्षर मंत्र ॐ नमः शिवाय का जाप अधिक से अधिक करें और भगवान शिव की आराधना करें ।

ज्योतिषाचार्य – डॉ. अरविन्द मिश्र
ज्योतिष एवं वास्तु विशेषज्ञ

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1247155
Hits Today : 1372