आगरा उत्तर प्रदेश कार्यक्रम

उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी का ऑनलाइन कार्यक्रम सत्कार का हुआ सफल आयोजन

आगरा। आज हुए कार्यक्रम में मुख्य अतिथि श्री बांकेलाल जी ( राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संस्कार भारती एवं वरिष्ठ स्वयं सेवक संघ पदाधिकारी) अतिथि श्री नीरज तिवारी (निदेशक अध्यान्त फाउंडेशन एन जी ओ) और अकादमी के सदस्य श्री रंजीत सामा ने माँ शारदा के चित्र पर दीप जलाकर एवं माल्यार्पण करके कार्यक्रम की शुरुआत की। अकादमी के अध्यक्ष पदमश्री डॉ राजेश्वर आचार्य जी अपना आशीर्वाद प्रेषित कर चुके थे। कार्यक्रम का समन्वयन ग्लैमर लाइव के सूरज तिवारी ने किया।

ये था कार्यक्रम का उद्देश्य:

भारत की आज़ादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत हुए “सत्कार” कार्यक्रम का उद्देश्य कोविड समय में कलाकरों का सहयोग करना था। इस माध्यम से अकादमी द्वारा कलाकरों को कुछ मदद मिल सके।

कलाकारों की प्रस्तुतियां रहीं ख़ास आकर्षण का केंद्र:

कलाकरों में सबसे पहले जीविशा गिडवानी ने वंदे मातरम पर शानदार नृत्य करके इकतरफ़ा तालियां बटोरीं इसके तुरंत बाद लिम्का बुक रिकॉर्ड धारी सिंगर चंचल उपाध्याय ने किशोर दा की आवाज़ में गीत गाकर सभी को मंत्र मुग्ध कर दिया, अब बारी थी अभिनय की जिसमें पूरे मन के साथ खालिस्तान पर कटाक्ष करते हुए मिमिक्री लिए हुए संवादों के साथ रंगकर्मी उमाशंकर मिश्र ने परिपक्व अभिनय का परिचय दिया। कविता के माध्यम से माँ हिंदी को प्रणाम करने का और हिंदी को उसका असली हक़ दिलाने का काबिले तारीफ़ काम किया बाल कवि ईशान देव ने, ईशान ने लोगों को सोचने पर मज़बूर कर दिया, भगतसिंह जब राखी वाले दिन घर नहीं आये तो उनकी बहन का लोक गीत के माध्यम से क्या दर्द था उसको गीत गाते हुए सुर दिए अकाशवाणी गायिका सुनीता धाकड़ ने मल्हार पेश किया, सुनीता ने विषुद्ध लोक शैली में हारमोनियम के साथ गाते हुए अपनी प्रस्तुति से भारत की लोक कला की ताक़त का ज्ञान कराया, ऐसा ही अदभुत कार्य किया प्लेबैक सिंगर सुजाता शर्मा ने ,उन्होंने सावन पर लोक गीत और एक फ़िल्मी लोक गीत के माध्यम से महफ़िल ही जीत ली।

कार्यक्रम का समापन:

उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी के सदस्य रंजीत सामा ने अपने धन्यवाद उदगार में कहा कि ऐसे कार्यक्रम निश्चित रूप से कलाकरों में उत्साह भरने का काम करते रहते हैं और जब तक मे अकादमी के सदस्य हूँ तब तक कलाकारों के हित के काम करता रहूँगा इसमें मुझे अकादमी के अध्यक्ष पदमश्री राजेश्वर आचार्य जी का पूरा सहयोग मिलता रहता है।साथ ही श्री सामा ने कार्यक्रम की प्रशंसा करते हुए सभी कलाकारों को प्रमाण पत्र, मोमेंटो और सहायता राशि 31 अगस्त को दोपहर 1 बजे से 3 बजे तक कलाकर उनके ऑफिस संजय प्लेस से प्राप्त कर सकते हैं ऐसी घोषणा भी उन्होंने करी है। श्री बांकेलाल जी का,नीरज तिवारी का एवं कार्यक्रम समन्वयक और उदघोषक सूरज तिवारी को धन्यवाद देते हुए कार्यक्रम का समापन किया गया।

कार्यक्रम में फेसबुक लाइव ओर ज़ूम लाइव लिंक के मध्यम से काफ़ी संख्या में कला प्रेमी आदि लोग जुड़े रहे।

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1288718
Hits Today : 7754