आगरा उत्तर प्रदेश स्वास्थ्य

मुख्यमंत्री के निर्देश पर दोबारा शुरु होंगी आरोग्य मेले की सेवाएं-एक छत के नीचे मिलेंगी सभी स्वास्थ्य सुविधाएं

आगरा। कोविड-19 पर काफी हद तक नियंत्रण पाने के बाद आमजन तक बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं आसानी से पहुंच सके, इसी पावन मंशा को लेकर प्रदेश सरकार ने एक बार फिर से मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेलों के आयोजन का निर्णय लिया है। आगामी 19 सितंबर से प्रत्येक रविवार को सभी शहरी और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर इन मेलों का आयोजन किया जाएगा।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अरुण श्रीवास्तव ने बताया कि शासन से मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेलों के आयोजन को लेकर निर्देश प्राप्त हुए हैं। मेलों के आयोजन की रूपरेखा बनाकर तैयारियां तेज कर दी गई हैं। उन्होंने बताया कि इस मेले के आयोजन का उद्देश्य एक ही छत के नीचे लोगों को स्वास्थ्य से जुड़ी सभी सुविधाएं, जांच, उपचार, दवाएं आदि उपलब्ध कराना है। डा. अरुण ने बताया कि प्रत्येक रविवार को आयोजित होने वाले मेले में कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना की जाएगी, मेला परिसर में प्रवेश करने से पूर्व प्रत्येक व्यक्ति की स्क्रीनिंग की जाएगी। मेले में मास्क और सेनिटाइजर की भी व्यवस्था रहेगी। सीएमओ ने लोगों ने अपील की है कि वह इन मेलों में आकर स्वास्थ्य सेवाएं प्राप्त कर मेले का लाभ उठाएं। इस संबंध में प्रदेश शासन के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों व मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को आदेश जारी कर इन मेलों को बेहतर तरीके से आयोजित कराने के निर्देश दिए हैं।
———–

मेले में मिलेंगी यह सुविधाएं
मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेलों में गोल्डन कार्ड बनवाने, गर्भावस्था एवं प्रसवकालीन परामर्श, पूर्ण टीकाकरण एवं परिवार नियोजन संबंधी साधनों एवं परामर्श की व्यवस्था रहेगी। इसके साथ ही संस्थागत प्रसव संबंधी जागरूकता, जन्म पंजीकरण परामर्श, नवजात शिशु स्वास्थ्य सुरक्षा परामर्श एवं सेवाएं, बच्चों में डायरिया एवं नियोमिनिया की रोकथाम के साथ ही टीबी, मलेरिया, डेंगू, फाइलेरिया, कुष्ठ आदि बीमारियों की जानकारी, जांच एवं उपचार की नि:शुल्क सेवाएं दी जाएंगी। पीएचसी पर जो जांचे नहीं हो सकेंगी, ऐसे मरीजों को जांच के लिए सीएचसी अथवा जिला चिकित्सालय रेफर किया जाएगा।

मेले में बनेंगे आयुष्मान कार्ड
मुख्यमंत्री आरोग्य मेले में लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड भी बनाए जाएंगे। गोल्डन कार्ड बनाने के लिए अभियान को चलाया जाएगा। नोडल अधिकारी डा.विनय कुमार ने बताया कि ग्रामीण व शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर स्वास्थ्य मेला होगा। मेले में आधारभूत पैथालॉजिकल जांचों, विशेष रूप से रैपिड डायग्नोस्टिक किट आधारित जांच की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। गंभीर रोगियों को जिला चिकित्सालयों में समुचित उपचार के लिए संदर्भित किया जाएगा। प्रयास होगा कि ऐसे रोगियों को व्यवस्थित ढंग से राजकीय एम्बुलेंस सेवा उपलब्ध कराई जाए। जिससे उन्हें इधर-उधर भटकना न पड़े।

About the author

india samachar

Add Comment

Click here to post a comment

Leave a Reply

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1247153
Hits Today : 1332