आगरा उत्तर प्रदेश

सूरसदन प्रेक्षागृह पर हुआ गुरु जी की शौर्य गाथा का मार्मिक मंचन

आगरा। श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी के 400 साला प्रकाश पर्व को समर्पित नाट्य प्रस्तुति
गुरु तेग बहादुर-हिंद की चादर का पटियाला के पंजाबी रंग मंच के कलाकारों ने बड़ा ही मार्मिक परिदृश्य प्रस्तुत किया बीच बीच में जो बोले सो निहाल के जय जय कारों से सभागार गुंजायमान होता रहा यह कार्यक्रम उत्तर प्रदेश पंजाबी अकादमी एवं आगरा विकास प्राधिकरण के सयुंक्त प्रयास से करवाया जा रहा है

कार्यक्रम का शुभारंभ श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी के चित्र के आगे मौजूदा मुखी गुरूद्वारा गुरु के ताल संत बाबा प्रीतम सिंह जी,आगरा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष राजेंद्र जी,उत्तर प्रदेश पंजाबी अकादमी के उपाध्यक्ष गुरविंदर छाबड़ा,सदस्य राजकुमार छाबड़ा,एङी आर एम मुदित चंद्र,बृज क्षेत्र अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष गुरप्रीत सिंह एवं प्रमुख उद्योग पति पूरन डाबर जी दीप प्रज्वलित करके किया
तदुपरांत कार्यक्रम संयोजक बंटी ग्रोवर ने बताया कि गुरु तेग बहादुर साहिब जी सिक्खों के नौवें गुरु थे जिस प्रकार उस समय मुगल बादशाह औरंगजेब के समय जबरन इस्लाम धर्म कबूल करवाया जा रहा था गुरु जी ने अपना बलिदान करवा का एक मिशाल कायम की जिस वजह से उन्हें हिन्द की चादर कहा जाता है

पटियाला के हरमिन्दर पाल सेठी के नेतृत्व में 25 से ऊपर कलाकारों ने गुरु तेग बहादुर साहिब जी के जीवन दर्शन उनके जन्म स्थान अमृतसर से,भाई मक्खन शाह लुभाना ,भाई लखी बंजारा द्वारा उनके धड़ का संस्कार ,भाई मति दास,भाई सती दास,भाई दयाला जी एवं गुरु साहिब के शहादत का बड़ा ही मार्मिक वर्णन किया बीच बीच में बोले सो निहाल के जय जयकार गुंजायमान होते रहे
इस नाट्य प्रस्तुति द्वारा गुरु जी विभिन्न हिस्सों को दर्शाया गया
आरंभ में गतका द्वारा पुरातन युद्ध कला को भी दर्शाया गया

कार्यक्रम में आई जी नवीन अरोरा रंजीत सामा चंद्र मोहन सचदेवा, कंवल दीप सिंह, वीर महेंद्र पाल, दलजीत सिंह सेतिया,उपेंद्र सिंह लवली ,चौधरी मंजीत सिंह,बॉबी वालिया,रमन साहनी,हर पाल सिंह,परमजीत सिंह मक्कर,तेजपाल सिंह,बॉबी बेदी आदि का सहयोग रहा
कार्यक्रम में सिक्ख यूथ वेलफेयर आर्गेनाईजेशन एवं अकाल पुरख की फौज द्वारा व्यवस्था मैं सहयोग किया गया

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1288728
Hits Today : 8058