लेख साहित्य

छठ मैया

दीवाली के बाद में, षष्ठी कार्तिक मास।
भारत के कुछ खंड में, मनता पर्व सुहास।

उपासना रवि देव की, करते हैं सब लोग।
ऊषा पूजन से मिटे, भौतिक सारे रोग।
चार दिनों का पर्व है, रखते हैं उपवास।
भारत के कुछ खंड में, मनता पर्व सुहास ।

नारी हो या पुरुष हो , या हो वृद्ध जवान।
छठ मैया का सब करें, हृदय से सम्मान।
पूजा करते प्रकृति की, भर मन में उल्लास।
भारत के कुछ खंड में, मनता पर्व सुहास।

शक्ति देवता सूर्य के, मिलकर गाते गान।
देते जल का अर्घ मिल, संध्या और विहान।
आदिकाल की परंपरा, चली आ रही खास।
भारत के कुछ भाग में मनता पर्व सुहास।

छठ मैया का पर्व यह, देता शुभ संदेश।
तन मन करे निरोग रवि, करता कृपा विशेष।
खीर पुआ खरना बटें, जिनसे रहे मिठास।
भारत की कुछ खंड में,मनता पर्व सुहास।

मौलिक रचना
प्रेम सिंह राजावत प्रेम

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1321645
Hits Today : 1008