आगरा उत्तर प्रदेश स्वास्थ्य

चाबुक वाले हाथों ने लगवाया जीत का टीका

आगरा चाबुक बनाकर परिवार चलाते हैं लेकिन कोरोना के खतरे से अंजान थे। भ्रम और डर के कारण अब तक वैक्सीन नहीं लगवाई थी। जब वैक्सीन मित्र ने समझाया तो कोरोना वैक्सीनेशन की अहमियत समझी और 344 लोगों ने टीका लगवाया।

210 लोगों ने ली पहली खुराक
राष्ट्रीय बाल अधिकार संस्था चाइल्ड राइट्स एंड यू (क्राई) द्वारा वैक्सीन मित्र बनाकर लोगों को वैक्सीन के प्रति जागरूक किया जा रहा है। अभी भी तमाम लोगों ने पहली डोज भी नहीं ली है। ताज महल के पास स्थित इंदिरा नगर मारवाड़ी बस्ती तथा राजनगर में क्राई संस्था द्वारा स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से वैक्सीनेशन शिविर लगाया गया, जिसमें 210 लोगों ने पहली तथा 124 लोगों ने दूसरी डोज लगवाई। मारवाड़ी बस्ती की महिलाएं हंटर बनाने का काम करती हैं तथा राजनगर रेलवे लाइन के पास सभी मजदूर वर्ग के लोग रहते हैं।

सेंटर से बना रहे थे दूरी
वैक्सीन को लेकर लोगों में भ्रम था कि वैक्सीन लगवाने से उनकी मौत हो जाएगी लेकिन बाल अधिकार कार्यकर्ता एवं वैक्सीन मित्र नरेश पारस ने इनको जागरूक किया तो बमुश्किल लोग वैक्सीन लगवाने को तैयार हुए लेकिन वैक्सीन सेंटर पर नहीं पहुंच रहे थे। नरेश पारस ने स्वास्थ्य विभाग से समन्वय स्थापित शिविर लगाकर 344 लोगों का कोविड-19 वैक्सीनेशन कराया गया। ये सभी मलिन बस्तियां हैं।

वैक्सीन से न रहे कोई वंचित
नरेश पारस स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से लगातार मलिन बस्तियों के लोगों का वैक्सीनेशन करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मलिन बस्तियों के लोगों का शत प्रतिशत वैक्सीनेशन कराकर ही कोरोना से जंग जीती जा सकती है। एसीएमओ डॉ.आर सी माथुर की अगुवाई में स्वास्थ्य विभाग टीम में एचओ डॉ. हरवेन्द्र सिंह, डॉ. रमाकांत सिंह, डॉ.नरोत्तम तथा डॉ.सतेंद्र पाल सिंह ने वैक्सीनेशन कराया। एसीएमओ डॉ.आर सी माथुर ने कहा कि मलिन बस्तियों को चिन्हित कर वैक्सीनेशन लगातार चलता रहेगा।

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1351321
Hits Today : 5450