उत्तर प्रदेश देश-दुनिया

लॉक डाउन : इस हनुमान जयंती, घर पर करें ये सामान्य उपाय – शिल्पा जैन

जय श्रीराम – जय बजरंगबली
आज मैं शिल्पा जैन सर्वमंगल के माध्यम से हनुमान जयंती की आपको बहुत-बहुत शुभकामनाएं देती हूं। इस साल 2020 हनुमान जयंती 8 अप्रैल बुधवार वाले दिन मनाया जा रहा है। प्राचीन मान्यताओं के अनुसार चैत्र शुक्ल पूर्णिमा के दिन हनुमान जी का जन्म हुआ था इस दिन चैत्र पूर्णिमा होती है जो कि यह बहुत खास पूर्णिमा मानी जाती है आज ही के दिन माता अंजली की गोद में छोटे मारुति ने अवतार लिया था‌‌ पूर्णिमा तिथि 7 अप्रैल सुबह 10:47 बजे शुरू हो जाएगी जो 8 अप्रैल सुबह 8:20 समाप्त हो जाएगी लॉक डाउन के कारण बाहर जा कर पूजा करना एवं अपनी राशि के अनुसार पूजा करना मुश्किल हो जाएगा अतः मैं एक सामान्य उपाय बता रही हूं सबों के लिए कि ब्रह्म मुहूर्त में उठकर स्नान करके हनुमान चालीसा और बजरंग बाण का सुंदरकांड का पाठ करें इस दिन हनुमान जी को बेसन के लड्डू बनारसी पान एवं गेंदे के फूल का हार चढ़ाएं हनुमान जी के समक्ष तेल का दिया जलाना चाहिए हनुमान जी का जो तस्वीर है वह इस प्रकार रखें कि उनका चेहरा दक्षिण दिशा की तरफ हो जिनके घर में भी वास्तु का दोष है साउथवेस्ट के में हनुमान जी का पताका लगाएं आज के दिन जो बहुत लाभकारी होता है ऐसा माना जाता है कि आज के दिन रक्तदान करने से सभी दुर्घटना से हम बच सकते हैं क्योंकि वक्त जो है मंगल का प्रतीक है और मंगल ग्रह जो है हनुमान जी के अधीन है तो अतः कभी किसी कुंडली में अगर दुर्घटना योग बना हुआ हो तो ब्लड डोनेट करने का व सर्वोत्तम दिन माना जाता है इससे आने वाली दुर्घटना टल जाती है यूं तो हनुमान जी की पूजा हर मंगलवार और शनिवार को अवश्य करना चाहिए जिनके भी में कुंडली में शनि ग्रह कमजोर है शनि ग्रह अपना खराब फल दे रहे हैं या शनि की साढ़ेसाती या शनि की ढैया लगी हुई है उन्हें शनिवार को हनुमान जी की आराधना करनी चाहिए और हनुमान चालीसा एवं बजरंग बाण का पाठ अवश्य करना चाहिए ऐसे तो हनुमान का नाम लेना ही सर्वथा सुख कारी होता है क्योंकि कलयुग में व उन्हें साक्षात माना जाता है क्योंकि उन्हेंअमरत्व का वरदान प्राप्त है किंतु इस दिन पूजा करना विशेष लाभदायक होता है हनुमान जी के 12 नाम की आराधना आज के दिन करनी चाहिए वह 12 नाम इस प्रकार है पहला ओम हनुमान दूसरा ॐ अंजनी पुत्र तीसरा ॐ वायु पुत्र चौथा होम महाबल पांचवा होम रमेश फागुन सखा सातवा पिता आठवां अमित विक्रम नोवा अतिक्रमण दसवा सीता शोक विनाशक

11वां नाम लक्ष्मण प्राण दाता और और अंतिम नाम दश ग्रीन दर्पहा
आज के दिन इन सभी नामों का पाठ करना चाहिए हनुमान जी को सिंदूर अति प्रिय है इसके पीछे एक कथा प्रचलित है की माता सीता को सिंदूर लगाते देख हनुमान जी ने पूछा मां आप यह सिंदूर क्यों लगाती हैं तो माता सीता ने कहा कि मैं यह श्रीराम की लंबी आयु के लिए यह सिंदूर लगाती हूं अतः उन्होंने अपने पूरे शरीर में सिंदूर लगा लिया क्योंकि वह राम भक्त थे अपने भक्तों की सभा ग्य और आयु की वृद्धि के लिए उन्होंने ऐसा किया तो माता उनकी भक्ति से खुश होकर उन्हें अमरता का वरदान दिया इसीलिए हनुमान जी को सिंदूर चढ़ाया जाता है हनुमान जी को चोला चढ़ाने से भी हनुमान जी बहुत प्रसन्न होते हैं चोला में एक लंगोट चमेली का तेल सिंदूर बेसन का लड्डू और गेंदे की फूल माला होनी चाहिए आज के दिन पांच देसी घी की रोटी का हनुमान जी को भोग लगाएं एवं गरीबों को खिलाएं इससे जिनको भी हर वक्त किसी न किसी प्रकार का भय लगा रहता हो या चारों तरफ नेगेटिव एनर्जी होती हो इससे वह दूर हो जाती है अपने स्वास्थ्य के लिए अपनी नाभि में हनुमान जी के सिंदूर का तिलक लगाएं सौभाग्य प्राप्ति के लिए या तिलक मस्तिष्क पर लगाएं और यश की प्राप्ति के लिए हनुमान जी के दाहिने पैर का सिंदूर लेकर राइट हैंड के रिंग फिंगर हथेली पर लगाएं निश्चित ही यह हनुमान जयंती आप सबके लिए सौभाग्य लेकर आएगा और इस कठिन समय में हनुमान जी की कृपा हम सब पर बनी रहेगी यही आशा करती हूं

शिल्पा जैन
ज्योतिष विशारद
ज्योतिष धनवंतरी
ज्योतिष प्रज्ञा

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1252526
Hits Today : 4471