image

स्कूल में घुसकर छात्राओं से छेड़खानी करने वाले चार आरोपी गिरफ्तार

रांची के ओरमांझी में छात्राओं के साथ छेड़खानी करने के आरोप में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। एक आरोपी 11वीं का छात्र है। इन्होंने छात्राओं को उठा ले जाने की धमकी दी थी।

रांची पुलिस ने ओरमांझी स्थित सदमा प्रोजेक्ट प्लस टू उच्च विद्यालय की छात्राओं से छेड़खानी करने के चार आरोपियों को रविवार की शाम गिरफ्तार कर लिया। इन्हें ओरमांझी के विभिन्न इलाकों से पकड़ा गया। गिरफ्तार आरोपियों में मुजम्मिल अंसारी, फिरदौस अंसारी, जमील अंसारी और तौफीक अंसारी शामिल हैं। जबकि एक आरोपी सुहैल पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

आरोपी तौफीक अंसारी एक प्रतिष्ठित स्कूल की 11वीं का छात्र है। शेष सभी आरोपी रंग-रोगन का काम करते हैं। पूछताछ में आरोपियों ने पुलिस के समक्ष अपना जुर्म स्वीकार किया है। पुलिस को जांच में पता चला है कि आरोपी अक्सर स्कूल की दीवार फांदकर घुस जाते थे। छात्राओं से छेड़खानी करते थे। रोक-टोक करने वालों को धमकी भी दिया करते थे। एसएसपी किशोर कौशल ने बताया कि पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है। इधर, मामले को लेकर ग्रामीणों में उबाल है। ग्रामीणों का कहना है कि छेड़खानी करने वाले आरोपियों को प्रशासन सजा दिलाए।

एसआईटी ने दबोचा 

घटना की जानकारी मिलने के बाद एसएसपी ने एसआईटी बनाई थी। सिल्ली डीएसपी के नेतृत्व में गठित एसआईटी में इंस्पेक्टर व एसआई थे। एसआईटी ने स्कूल में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज खंगाले। मोबाइल लोकेशन के आधार पर आरोपियों को दबोच लिया।

महीनों से छेड़खानी की शिकार हो रही थीं छात्राएं 

रांची के ओरमांझी थाना क्षेत्र में स्थित प्रोजेक्ट प्लस टू उच्च विद्यालय, सदमा की छात्राएं महीनों से छेड़खानी का शिकार हो रही थीं। लेकिन छेड़खानी करने वाले बदमाशों के खौफ से जुबान बंद रखी थी। इसकी जानकारी स्कूल प्रबंधन को भी थी, पर कार्रवाई नहीं की। शिक्षक दिवस पर जब छात्राओं को हथियार के बल पर उठाने और स्कूल के लिपिक को जान से मारने की धमकी दी गई तो स्कूल प्रबंधन ने पुलिस को जानकारी दी।

सुरक्षा मुहैया कराए प्रशासन-स्कूल प्रबंधन

केस दर्ज कराने वाले लिपिक आशीष महतो ने खुद के साथ शिक्षक-शिक्षिकाओं ने भी सुरक्षा मांगी है। आशीष ने ही आरोपियों को रोका था, जिसपर उन्होंने पिस्टल तान दी थी। जबकि स्कूल के एचएम का कहना है कि मामले को लेकर 10 सितंबर को बैठक होने वाली थी, पर इससे पहले ही विवाद बढ़ गया।

आरोप प्रबंधन लापरवाह, पहले नहीं दी जानकारी

मामले में स्कूल प्रबंधन की लापरवाही भी सामने आई है। छात्राओं के साथ छेड़खानी हो रही थी, पर प्रबंधन ने पुलिस को सूचना नहीं दी। स्कूल में ही मामले को सुलझाने की कोशिश की। हल नहीं निकलने पर ग्रामीणों तक इसकी शिकायत पहुंची। मामला जब तूल पकड़ा तो शनिवार को ग्रामीणों ने आरोपियों पर प्राथमिकी दर्ज करवाई।

हर दिन बेटियों को टारगेट किया जा रहा रघुवर

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि हिम्मतवाली हेमंत सरकार सो रही है। झारखंड में लगातार कानून-व्यवस्था बिगड़ती जा रही है, इसके बावूजूद हेमंत सरकार सोई हुई है। राज्य में हर दिन बेटियों को टारगेट किया जा रहा है।

क्या है पूरी घटना

पांच सितंबर को स्कूल में शिक्षक दिवस कार्यक्रम के दौरान आरोपी स्कूल में घुस गए। छात्राओं से छेड़खानी करने लगे। स्कूल के लिपिक आशीष महतो ने आरोपियों को मना किया तो आरोपियों ने पिस्टल निकाल ली और उन्हें जान से मारने की धमकी दी। छात्राओं को उठा लेने की धमकी दी। लिपिक ने ओरमांझी थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी है।

यह भी पढ़ें

Breaking News!!