image

Direct Tax Collection में भारी उछाल, 30 प्रतिशत बढ़कर 8.3 लाख करोड़ के पार पहुंचा

Direct Tax Collection सीबीडीटी ने अपने बयान में कहा कि वित्त वर्ष 2022-23 में 17 सितंबर 2022 तक कुल अग्रिम कर संग्रह (Advance Tax Collection) पहली और दूसरी तिमाही में बढ़कर 295308 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है जो कि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 252077 रुपये था।

नई दिल्ली, एजेंसी। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (Central Board of Direct Tax - CBDT) ने रविवार को बताया कि इस वित्त वर्ष की शुरुआत से अब तक देश में कुछ प्रत्यक्ष कर संग्रह (रिफंड लौटने से पहले) बढ़कर 8,36,225 करोड़ रुपये हो गया है, जो पिछले साल की तुलना में 30 प्रतिशत अधिक है। वित्त वर्ष 2021-22 में समान अवधि में 6,42,287 करोड़ रुपये का कर संग्रह हुआ था।

एकत्रित हुए देश के कुल प्रत्यक्ष कर संग्रह में कॉरपोरेट टैक्स की हिस्सेदारी 4,36,020 करोड़ और पर्सनल इनकम टैक्स की हिस्सेदारी 3,98,440 करोड़ रुपये है।

अर्थव्यवस्था में हो रही बढ़त

देश में लगातार बढ़ रहा प्रत्यक्ष कर संग्रह इस बात को दिखा रहा है कि देश की अर्थव्यवस्था तेजी से कोरोना महामारी से उभर रही है। साथ ही कर व्यवस्था को आसान बनाने के कारण देश में कर संग्रह में लगातार इजाफा हो रहा है।

jagran

शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह

पीटीआई की रिपोर्ट में बताया गया कि देश का शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह (Net Direct Tax Collection) 7,00,669 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है। यह पिछले वित्त वर्ष की तुलना की 23 प्रतिशत अधिक है। वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान समान अवधि में शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह 5,68,147 करोड़ रुपये था। शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह में 3,68,484 करोड़ रुपये कॉर्पोरेट टैक्स से आए हैं जबकि बाकी के 3,30,490 करोड़ रुपये पर्सनल इनकम टैक्स के जरिए आए हैं।

 

jagran

CBDT का बयान

सीबीडीटी ने अपने बयान में कहा कि वित्त वर्ष 2022-23 में 17 सितंबर, 2022 तक कुल अग्रिम कर संग्रह पहली और दूसरी तिमाही में बढ़कर 2,95,308 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है, जो कि पिछले साल समान अवधि में 2,52,077 रुपये था।

यह भी पढ़ें

Breaking News!!