image

काव्य मंजूषा साहित्य वल्लरी द्वारा ऑन लाईन आयोजन

विनोद सिंह गुर्जर

महू - काव्य मंजूषा साहित्य वल्लरी द्वारा हिंदी दिवस के तत्वाधान में श्रीमती सपना सीपी साहू, स्वप्निल के संयोजन में ऑन लाईन आयोजन रखा गया जिसमें भीलवाड़ा से महक मधु ने सुंदर संचालन किया।  कार्यक्रम की मुख्य अतिथि वरिष्ठ कवियत्री सुशीला जोशी जी, मुंबई से और कार्यक्रम अध्यक्षा डॉ रेखा मंडलोई , हम फाउंडेशन , महिला सहभागिता, मालवा प्रांत प्रमुख, इंदौर से उपस्थित थी। 
सर्वप्रथम माँ वीणापाणि की स्तुति की गई तत्पश्चात कवि सम्मेलन आरंभ हुआ। धामनोद से पधारे ओमप्रकाश कुशवाह ,  खरगोन से डॉ दीपक दशोरे एवं वीरेन्द्र दसौंधी, वीर ने ओजमयी रचना पढ़ी।
दरभंगा बिहार से रितु प्रज्ञा, मनीष तिवारी, टैंगो, राजस्थान से रविन्द्र पंवार , बड़वाह से रविन्द्र तंवर, शाहजहांपुर ,उ.प्रदेश से सुखप्रीत सिंह सुखी,  छत्तीसगढ़ से डॉ बीना रागी एवं अनुसुईया झा,  इन्दौर से अमिता मराठे एवं सपना साहू 'स्वप्निल',  जोधपुर से आशीष मीणा  इत्यादि सभी ने मध्य रात्रि तक कार्यक्रम में अपना रचनापाठ किया। राष्ट्र के कई प्रांतों से पधारे कवियों ने हिन्दी की महत्वता पर काव्य पाठ किया। 
वरिष्ठ कवियत्री डॉ रेखा मंडलोई ने अपने उदबोधन में हिंदी की दिशा और दशा पर चिंतन व्यक्त किया।
अंत में काव्य मंजूषा साहित्य वल्लरी के संस्थापक कवि विनोद सिंह गुर्जर ने पटल पर पधारे सभी हिंदी भूषणों का आभार व्यक्त किया।

यह भी पढ़ें

Breaking News!!