image

श्रीकृष्ण जन्मभूमि: 13.37 एकड़ भूमि विवाद में कोर्ट ने मंजूर की याचिका, 1 जुलाई को होगी सुनवाई

ज्ञानवापी मस्जिद में मिले शिवलिंग के बाद अब मथुरा का मामला तेजी पकड़ने लगा है। श्रीकृष्ण जन्मभूमि में बनी शाही ईदगाह मस्जिद को हटाने की मांग बहुत पुरानी है। साल 2020 में कोर्ट ने मस्जिद हटाने की याचिका खारिज कर दी थी। अब अदालत ने 13.37 एकड़ भूमि के स्वामित्व की मांग को लेकर दायर अर्जी स्‍वीकार कर ली है।

 ज्ञानवापी मस्जिदमें शिवलिंग मिलने के बाद अब मथुरा स्थित  की चर्चा तेज हो गई है। लोग अब जन्मभूमि का सर्वे कराए जाने की मांग करने लगे हैं। मथुरा की एक अदालत में श्रीकृष्ण जन्मभूमि की 13.37 एकड़ भूमि के स्वामित्व की मांग को लेकर याचिका दाखिल की गई है। गुरुवार को कोर्ट ने इस याचिका को सुनवाई के लिए मंजूर कर लिया है। 1 जुलाई को इस पर सुनवाई की जाएगी।याचिका में 2.37 एकड़ जमीन को मुक्‍त करने की मांग की गई है। कहा गया है कि श्रीकृष्‍ण विराजमान की कुल 13.37 एकड़ जमीन में से करीब 11 एकड़ जमीन पर श्रीकृष्‍ण जन्‍मस्‍थान स्‍थापित है।

2020 में याचिका खारिज हो गई थी
श्रीकृष्ण जन्मभूमि में बनी शाही ईदगाह मस्जिद को हटाने की मांग बहुत पुरानी है। साल 2020 में कोर्ट ने मस्जिद हटाने की याचिका खारिज कर दी थी। कटरा केशव देव मंदिर के 13.37 एकड़ के परिसर के भीतर मस्जिद को हटाने की मांग करते हुए अलग-अलग हिंदू समूहों की ओर से पहले मथुरा की अदालतों में 10 अलग-अलग याचिकाएं दायर की गई थीं। उनका दावा है कि मस्जिद को कृष्ण के जन्मस्थान पर बनाया गया। मथुरा कोर्ट में दायर याचिका में कहा गया है कि अधिकांश हिंदू समुदाय का मानना है कि भगवान कृष्ण का जन्म उसी स्थान पर हुआ था जहां मस्जिद है।

2.37 एकड़ जमीन मुक्‍त कराने की मांग
कोर्ट में दायर की गई याचिका में कहा गया है कि जन्मभूमि परिसर की खुदाई कराई जाए। याचिकाकर्ता ने कहा कि खुदाई की एक जांच रिपोर्ट पेश की जाए। याचिका में दावा किया गया है कि जहां पर मस्जिद का निर्माण किया गया है, वही पर कारागार मौजूद है। उसी कारागार में भगवान कान्हा का जन्म हुआ था।याचिका में 2.37 एकड़ जमीन को मुक्‍त करने की मांग की गई है। कहा गया है कि श्रीकृष्‍ण विराजमान की कुल 13.37 एकड़ जमीन में से करीब 11 एकड़ जमीन पर श्रीकृष्‍ण जन्‍मस्‍थान स्‍थापित है। जबकि शाही ईदगाह मस्जिद 2.37 एकड़ जमीन पर बनी है। इस 2.37 एकड़ जमीन को मुक्‍त कराकर श्रीकृष्‍ण जन्‍मस्‍थान में शामिल करने की मांग याचिका में की गई है।

यह भी पढ़ें

Breaking News!!