image

जन्म के बाद मासूम को झाड़ियों में फेंका, महिला कांस्टेबल ने पालने की जिम्मेदारी

श्रावस्ती में लोकलाज की डर से एक मां ने जन्म के बाद अपने बच्चे को झाड़ियों में फेंककर फरार हो गई। बच्चे की रोने की आवाज सुनकर आस-पास के लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी।

उत्तर प्रदेश के श्रावस्ती में लोकलाज की डर से एक मां ने जन्म के बाद अपने बच्चे को झाड़ियों में फेंककर फरार हो गई। बच्चे की रोने की आवाज सुनकर आस-पास के लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने बच्चें को अस्पताल में भर्ती कराया। 

ये मामला गिलौला थाना क्षेत्र का है। शनिवार की रात झारखंडी मंदिर के पास एक महिला ने बच्चे के जन्म के तुरंत बाद उसे झाड़ियों में फेंककर फरार हो गयी। देर रात करीब दो बजे झाड़ियों से रोने की आवाज सुनाई दी। इसके बाद आस-पास के लोगों ने झाड़ियों में देखा तो एक बच्चा कपड़ों में लिपटा मिला। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने बच्चे को सीएससी गिलौला में भर्ती कराया। बच्चे की हालात गंभीर थी इसलिए प्राथमिक उपचार के बाद उसे बाल रोग विशेषज्ञ को दिखाने की सलाह दी।

बच्चे की हालत को देखते हुए थाने में ही तैनात महिला कांस्टेबल ने गोज से लिया और बच्चे को बहराइच ले जाकर उसका इलाज कराया। थाना प्रभारी निरीक्षक योगेंद्र राय ने बताया कि बच्चा जब मिला था तब उसकी हालत बेहद खराब थी। अब महिला कांस्टेबल ने बच्चे को गोद लिया है और उसकी देखभाल कर रही है। जानकारी के मुताबिक कोई व्यक्ति बाइक से आकर बच्चे को झाड़ियों में फेंककर चला गया था।  

यह भी पढ़ें

Breaking News!!