image

अंतिम संस्कार के लिए आए शवों को छिन्न-भिन्न कर अंग निकाल बेचती थी महिला, 20 साल की हुई जेल

हेस की 69 वर्षीय मां भी उसके साथ इस जुर्म की दोषी पाई गई है। अदालत ने उसे 15 साल जेल की सजा सुनाई है। कोर्ट के दस्तावेजों के मुताबिक हेस की मां का काम शवों को टुकड़े-टुकड़े करना होता था।

संयुक्त राज्य अमेरिका के कोलोराडो में 46 वर्षीय एक महिला,जो एक अंतिम संस्कार गृह की पूर्व मालिक है, को 560 शवों का चीर-फाड़ करने और बिना परिजनों की इजाजत के शवों के अंगों को बेचने का दोषी पाया गया है।  आरोपी महिला मेगन हेस को मंगलवार को संघीय अदालत ने 20 साल की सजा सुनाई है। अधिकारियों ने रॉयटर्स को बताया कि आरोपी मेगन हेस ने मृतकों के रिश्तेदारों को धोखा दिया और जाली डोनर फॉर्म का इस्तेमाल कर शवों से अंगों को चुराकर उसे बेचा करती थी।

मेगन हेस को जुलाई 2022 में दोषी ठहराया गया था। कानून के मुताबिक उसे अधिकतम 20 साल जेल की सजा सुनाई गई है। वह कोलोराडो के मोंट्रोस में सनसेट मेसा नाम से एक अंतिम संस्कार गृह चलाती थी और वहीं एक ही इमारत में डोनर सर्विसेजका भी संचालन करती थी। 

हेस की 69 वर्षीय मां भी उसके साथ इस जुर्म की दोषी पाई गई है। अदालत ने उसे 15 साल जेल की सजा सुनाई है। कोर्ट के दस्तावेजों के मुताबिक हेस की मां का काम शवों को टुकड़े-टुकड़े करना होता था।

अमेरिका में शरीर के अंगों की बिक्री पर साल 2016-2018 में रॉयटर्स की खोजी श्रृंखला की न्यूज स्टोरी के बाद मामला सामने आया था। रॉयटर्स ने मां-बेटी की जोड़ी के ऑपरेशन की कहानी उजागर की थी, जिसके कुछ सप्ताह बाद संघीय जांच ब्यूरो (FBI) ने उनके अंतिम संस्कार गृह पर छापा मारा था।

अभियोजन पक्ष ने इस मामले को हाल के अमेरिकी इतिहास में शरीर के अंगों की तस्करी के सबसे महत्वपूर्ण मामलों में से एक बताया था। इसके बाद जज ने आदेश दिया कि हेस और उसकी मां को तुरंत जेल भेज दिया जाए। हेस शवों से हार्ट, किडनी, ब्रेन जैसे अंगों को निकालकर बेचा करती थी।

यह भी पढ़ें

Breaking News!!