image

समाज कार्य  विभाग  स्वर्ण जयंती समारोह

डॉ दिलीप अग्निहोत्री 

लखनऊ विश्वविद्यालय  के समाज  कार्य  विभाग  स्वर्ण जयंती वर्ष समारोह का आज शुभारंभ हुआ.समारोह में उप मुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि वह स्वयं भी विश्वविद्यालय के छात्र रहें हैं. आज इस स्वर्ण जयंती वर्ष समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर आना उनके लिए गर्व की बात है. समाज कार्य विभाग सदैव ही प्रेरणादायक कार्य करता रहा है, जिससे अनेकों छात्रों को सदैव सफ़लता के  अनेकों अवसर प्राप्त होते रहे हैं. उन्होने 
स्वर्ण जयंती वर्ष के लोगो का अनावरण किया.समारोह की अध्यक्षता कुलपति  प्रो आलोक कुमार राय ने की. उन्होंने कहा कि लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा नुक्कड़ नाटक के माध्यम से 48 कॉलेज में वेंडिंग मशीन लगाई गई है जिसमें विद्यार्थीयों को माहवारी सम्बंधित जानकारी दी गई एवं इस मशीन को कैसे प्रयोग किया जाए इसकी भी शिक्षा दी जाती है।विभागाध्यक्ष प्रो अनूप कुमार भारतीय न कार्यक्रम संबन्धी वितरण प्रस्तुत किया.
आज से 50 वर्ष पूर्व 12 
जुलाई 1972 में आज ही के दिन समाज कार्य विभाग स्वतंत्र विभाग के रूप में स्थापित हुआ था.
आचार्य राम प्रकाश द्विवेदी अध्यक्ष ,नेशनल एसोसिएशन ऑफ प्रोफेशनल सोशल वर्कर्स इन इंडिया नई दिल्ली ने मुख्य व्याख्यान दिया.कहा कि यह पचास वर्ष समाज कार्य विभाग के कार्यों को मूल्यांकित करने का समय है. प्रो राज कुमार सिंह जी ने समाज कार्य विभाग के गठन से लेकर पचास वर्षों की यात्रा के मुख्य बिंदुओं के बारे में बताया. उन्होने बताया की वर्तमान समय में समाज कार्य विभाग से कुल  437  बच्चों द्वारा पी एच डी की शिक्षा ग्रहण की जा चुकी है. समाज कार्य विभाग ही पूरे भारत में पहली पी एच डी और मास्टर डिग्री देने के लिए जाना जाता हैं. जब देश में समाज कार्य विभाग के हिंदी की पाठ्य पुस्तकें उपस्थित नहीं थी तब सबसे ज्यादा पुस्तकें लखनऊ विश्वविद्यालय के समाज कार्य विभाग द्वारा ही लिखी गईं .प्रो डी के सिंह ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

यह भी पढ़ें

Breaking News!!