image

स्वयंसेवी संस्थाओं व धर्मगुरुओं से टीकाकरण के लिए जागरुक करने की अपील, सीडीओ की उपस्थिति में आईएमए, रोटरी, लायंस क्लब, एनएसएस कार्यकर्ता व धर्मगुरुओं से की गई अपील

आगरा

आगरा| शून्य से पांच वर्ष तक के बच्चों को 11 जानलेवा बीमारियों को बचाने के उद्देश्य से विकास भवन सभागार में नियमित टीकाकरण के ‌लिए जनपद स्तरीय अभिमुखीकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया। यूनीसेफ के माध्यम से धर्मगुरुओं व सामुदायिक प्रभावशाली व्यक्त‌ियों को जागरुक किया गया, जिससे बच्चों के टीकाकरण अभियान में गति लाई जा सकें। कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्य विकास अधिकारी ए.मनिकंडन ने की |

मुख्य विकास अधिकारी ए.मनिकंडन ने आईएमए, रोटरी क्लब, लायंस क्लब, एनएसएस के स्वयंसेवकों व धर्मगुरुओं को सम्बोधित किया। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि नियमित टीकाकरण को शत-प्रतिशत उपलब्धि के लिए जिम्मेदारी लेते हुए अपने प्रभाव वाले क्षेत्रों में जाकर लोगों को जागरुक करें। सामुदायिक प्रभावशाली व्यक्ति अपना सहयोग कर  जानलेवा बीमारियों से मृत्यु को रोक सकते हैं। उन्होंने कहा कि टीकाकरण अभियान  सभी की सहभागिता से ही सफल हो सकता है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अरुण श्रीवास्तव ने कहा कि नियमित टीकाकरण के प्रति उदासीन परिवारों को टीकाकरण के लिए जागरुक कर शत-प्रतिशत लाभ जन समुदाय को दिलाना ही प्राथमिकता है। प्रभावशाली लोगों के सहयोग से टीकाकरण अभियान को सफल बनाकर 11 जानलेवा बीमारी वाले टीके लगाए जाएंगे। यूनिसेफ से अमृतांशु और राहुल ने जनपद के टीकाकरण डाटा साझा किया। उन्होंने लोगों को जागरूक करने की दिशा में कार्य करने पर बल दिया। अंत में प्रतिभागियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. संजीव वर्मन (डीआईओ) ने बताया कि नियमित टीकाकरण कार्यक्रम के अंतर्गत टीकाकरण से वंचित वैब (वैक्सीन अवॉइडेंस बिहैवियर) झिझक /उदासीन परिवारों को मोबिलाइज कर टीकाकरण कराने के लिए ब्लॉक स्तर पर धर्मगुरुओं व सामुदायिक प्रभावशाली व्यक्त‌ियों से अपील की ।

 इस मौके पर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के सचिव डॉ.अग्रवाल और भारतीय बाल चिकित्सा अकादमी के डॉ.पीयूष ने समय समय पर टीकाकरण के कैंप लगाकर जागरूक करने पर बल दिया। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी ने आगन्तुकों का आभरा जताया।

यह भी पढ़ें

Breaking News!!