image

UP: पिता बस ड्राइवर, बेटी उड़ाएगी एयरफोर्स के जंगी जहाज, ऑल इंडिया में पाई दूसरी रैंक

श्रुति सिंह के पिता के पी सिंह उत्तर प्रदेश परिवहन निगम में एक ड्राइवर के पद पर तैनात हैं जो की सरकारी बस चलाते हैं. उनकी बेटी ने पूरी लगन और मेहनत से एयरफोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट (AFCAT) में पूरे देश में दूसरी रैंक पाई है.

कहते हैं कि अगर हौसले आसमानों के हो तो कोई भी स्थिति मायने नहीं रखती. यह बात सच होती दिखाई दी मेरठ में, जहां उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम में सरकारी बस चलने वाले एक ड्राइवर की बेटी श्रुति सिंह ने सफलता की कहानी को साबित कर दिखाया. मेरठ की बेटी श्रुति ने अपनी काबलियत से नाम रोशन किया है जिसका चयन एयरफोर्स में फ्लाइंग ऑफिसर पद के लिए हुआ है और एयरफोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट (AFCAT) में पूरे देश में दूसरी रैंक पाई है.

पूरे देश में पाई AIR 2 रैंक
दरअसल, मेरठ के पल्लवपुरम की रहने वाली श्रुति सिंह ने  एयर फोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट (AFCAT) में देश भर में दूसरी रैंक पाई है और श्रुति सिंह वायु सेवा में फ्लाइंग ऑफिसर के लिए चयन पाने में कामयाब हुई हैं. 

रोडवेड बस ड्राइवर हैं पिता
श्रुति सिंह के पिता के पी सिंह उत्तर प्रदेश परिवहन निगम में एक ड्राइवर के पद पर तैनात हैं जो की सरकारी बस चलाते हैं लेकिन एक ड्राइवर की बेटी ने पूरी लगन और मेहनत से एयरफोर्स में सेलेक्शन पा लिया है. श्रुति सिंह इस कामयाबी का पूरा श्रेय अपने माता-पिता और अपने गुरु कर्नल राजीव देवगन को देती हैं. उनका कहना है कि इन्हीं लोगों ने उसको कामयाब करने के लिए पूरी भूमिका निभाई है

जिला पंचायत की सदस्य रह चुकी बहन ने की मदद
श्रुति सिंह बताती हैं कि उनके पिता रोडवेज में ड्राइवर के तौर पर कार्य करते हैं और उनकी माता हाउसवाइफ हैं. वे कहती हैं कि उनके पिता के पी सिंह भले ही रोडवेज में बस ड्राइवर हों, लेकिन उन्होंने कभी भी अपने बच्चों को कोई कमी महसूस नहीं होने दी, वे सभी जरूरतें पूरा करते थे. श्रुति की माता सुनीता भी अपनी बेटी की कामयाबी पर काफी खुश हैं. उनका कहना है कि काफी परेशानियों के बावजूद परिश्रम और मेहनत के बल पर उनकी बेटी ने कामयाबी पाई है. उन्होंने अपनी बहन मेरठ से पूर्व जिला पंचायत सदस्य मीनाक्षी भराला का भी धन्यवाद किया, जिन्होंने उनकी बहुत मदद की. श्रुति कहती हैं कि जब पिता जॉब पर चले जाते थे तब बहन ने ही उनकी पढ़ाई-लिखाई अच्छे से कराई.

अब हैदराबाद के एयरफोर्स एकेडमी में होगी ट्रेनिंग
श्रुति कहती है की पढ़ाई को छोटे-छोटे टारगेट बनाकर करना चाहिए न कि रट्टा मारकर. श्रुति सिंह ने Afcat 1 2023 में मेरिट सूची में AIR 2 हासिल किया है. वह जनवरी 2024 में भारतीय वायुसेना के फ्लाइंग ऑफिसर पद के लिए हैदराबाद के एयरफोर्स एकेडमी में अपना प्रशिक्षण शुरू करेगी. 

 

Post Views : 180

यह भी पढ़ें

Breaking News!!