image

विद्यार्थियों को राज्यपाल का संदेश 

डॉ दिलीप अग्निहोत्री 

लखनऊ । राज्यपाल आनंदीबेन पटेल विद्यार्थियों को सदैव श्रेष्ठ नागरिक बनने की प्रेरणा देती हैं.उनके संदेश में माता पिता की सेवा करने से लेकर राष्ट्र सेवा तक का विचार समाहित रहता है. ऐसे ही विचार उन्होंने 
डॉ ए पी जे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय, लखनऊ के दीक्षांत समारोह में व्यक्त किए. उन्होने कहा कि विद्यार्थियों को 
जीवन में सत्य का आचरण करने का संकल्प लेना चाहिए. साथ ही ‘सत्यमेव जयते‘ को अपना ध्येय वाक्य बनाए क्योंकि आचार-विचार एवं सोच बहुत मायने रखती है।
आप कहीं भी कार्यरत हों ईमानदारी से कार्य करें और इसकी प्रेरणा अन्य लोगों को भी दें। राज्यपाल जी ने कहा कि आप के माता-पिता आपके सबसे बड़़े आदर्श हैं, उन्हें कभी नहीं भूलें, उन्होंने आपको इस लायक बनाया। उनके समर्पण को समझें और माता-पिता के सम्मान को हमेशा बनाये रखें।
कुलाधिपति ने वृद्धाश्रम भ्रमण का जिक्र करते हुए कहा कि ऐसी शिक्षा कोई महत्व नहीं रखती, जो अपने वृद्ध माता-पिता को वृद्धाश्रम भेज दें। उन्होंने डिग्री प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं से संकल्प लेने का आवह्न किया, कहा कि हर हाल में अपने माता-पिता की सेवा करेंगे।
राज्यपाल जी ने कहा कि तकनीकी शिक्षा के अध्ययन में रोजगार एक महत्वपूर्ण पड़ाव है। 
हमारे देश का नवाचार अर्थशास्त्र और उपयोगिता का एक बड़ा मिश्रण है। भारत में स्टार्टअप के इलेक्ट्रिक मोबिलिटी, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, हेल्थ केयर, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और अन्य बहुत से क्षेत्र हैं। इन सभी स्टार्टअप को विशिष्ट भारतीय ब्रांडों का सृजन करना चाहिए, इससे भविष्य में विश्व बाजारों में अपना स्थान बना सकतें हैं। प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशीष पटेल ने कहा कि उत्तर प्रदेश का तकनीकी शिक्षा के रूप में बड़ा नाम है। यहां पर उच्च शिक्षा के क्षेत्र में गुणात्मक सुधार हुआ है।

Post Views : 403

यह भी पढ़ें

Breaking News!!