image

जानिए होलिका दहन का शुभ मुहूर्त और महत्व:  एस्ट्रोलॉजर शिल्पा जैन की कलम से

डीके श्रीवास्तव

भारत त्योहारों का देश है। होली दीपावली और दशहरा यह तीन मुख्य त्यौहार का हमारे देश में बहुत महत्व है। 2023 में होली का त्यौहार 8 मार्च को खेला जाएगा और 7 मार्च को होलिका दहन होगा।
होलिका दहन का उत्तम समय 7 मार्च मंगलवार के दिन शाम 6:24 से रात 8:51 तक रहेगा। होलिका की अग्नि को बहुत ही पवित्र माना जाता है आज होलिका दहन के वक्त अग्नि में देसी घी 2 लॉन्ग एक बताशा एक पान का पत्ता मिश्री अवश्य डालें दूसरे दिन इसकी राख को अपने घर में लाकर छिड़काव करें एवं इसकी ताबीज बनाकर पहन लें ऐसा करने से बुरी नजर से बचाव होता है। होलिका दहन के पूर्व शिवलिंग पर 21 गोमती चक्र चढ़ाएं उसके पश्चात होलिका दहन करें। कुछ निम्नलिखित उपाय करने से जीवन में सकारात्मक परिवर्तन होगा-
वैवाहिक जीवन में परेशानी आ रही हो तो होलिका दहन में हवन की सामग्री देसी घी जौ को लेकर दोनों हाथों से अर्पित करें एवं अपने वैवाहिक जीवन सुख में हो इसकी प्रार्थना करें
अगर व्यापार में दिक्कत आ रही है तो पीली सरसों एक मुट्ठी में ले और अपने सिर पर से 3 बार बार करके अग्नि में डालें और प्रार्थना करें कि व्यापार में हमारी बरकत हो।
चंदन का छोटा सा टुकड़ा डालने से मां लक्ष्मी बहुत ही खुश होती है।
बहुत दिनों से स्वास्थ्य में परेशानी चल रही हो तो अगली में तीन हरी इलायची और कपूर अपने ऊपर से वार करके डालें।
जीवन में किसी भी प्रकार की अगर परेशानी है तो एक आटे का गोला बनाएं उसमें अपनी परेशानी बोले सीधे हाथ में रखें और यह मन में संकल्प करें कि इस आटे के गोले में हमारी परेशानी समा रही है और उसको होलिका दहन में डाल दें।
होलिका दहन के वक्त तांबे का सिक्का या कोई भी सिक्का होलिका दहन में डालें दूसरे दिन उसे काले धागे में बांधकर बच्चों के तकिए के नीचे रखे बच्चों के पढ़ाई में इससे सहायता मिलेगी, व्यापार में दिक्कत आ रही है तो उस सिक्के को अपने तिजोरी में रखें।
8 मार्च के दिन होली खेली जाएगी कुछ बातों का ध्यान रखना आवश्यक है सर्वप्रथम भगवान शिव को जल से अभिषेक कर कर पीला गुलाल अर्पित करें उसके पश्चात गणेश भगवान को गुलाल अर्पित करें उसके पश्चात अपने घर के कुल देवी या देवता को गुलाल अर्पित करें उसके पश्चात  माता पिता के चरणों में गुलाल अर्पित करें। आज के दिन अपने मस्तक पर पूरे दिन तिलक अवश्य रहने दे।
राशियों के हिसाब से रंग का चयन करना बहुत ही उत्तम माना गया है राशियों के हिसाब से खेले जाने वाले रंग इस प्रकार से है
मेष राशि लाल और पीले गुलाल से खेले वृष राशि नारंगी और नीला रंग का उपयोग करें मिथुन राशि हरे रंग से खेले कर्क राशि हरा गुलाबी रंग से खेले सिंह राशि नारंगी रंग से खेले कन्या राशि हरा और सफेद चंदन का उपयोग करें तुला राशि नीला रंग केसरिया रंग का उपयोग करें वृश्चिक राशि मरून कलर का उपयोग करें धनु राशि मिला और केसर से होली खेले मकर राशि नीला रंग से खेले कुंभ राशिफल नीले रंग से खेले और मीन राशि पीला और नारंगी रंग का उपयोग करें।
ईश्वर से प्रार्थना है यह होली आपके जीवन में विभिन्न प्रकार के रंग को भर दे एवं आपका जीवन सुख समृद्धि और उत्तम स्वास्थ्य के रंगों से भरपूर हो

Post Views : 342

यह भी पढ़ें

Breaking News!!