image

इस राज्य के सेकेंडरी और हायर स्कूलों में खाली हैं शिक्षकों के 9,200 पद

गुजरात में 4,146 सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त उच्च माध्यमिक विद्यालयों में 5,940 शिक्षण पद खाली हैं। आइए जानते हैं, ये पद कब भरे जाएंगे और क्या है निकाली जाएगी शिक्षकों के पदों पर भर्ती

भारत में पढ़े-लिखे युवाओं को बेरोजगारी देखनी पड़ रही है, वहीं जब भर्तियां निकलती है, तो परीक्षा में धांधली के चलते वह रद्द कर दी जाती, चयन होने के बाद नियुक्ति पत्रों से भारत के युवाओं को वंचित कर दिया जाता है या फिर लंबे समय से खाली पड़े पदों पर भर्ती नहीं निकाली जाती है। ये कहना गलत नहीं होगा कि सरकारी नौकरी को हासिल करने के लिए युवाओं को लोहे के चने चबाने पड़ते हैं।

आपको बता दें, सोमवार को विधानसभा में एक सत्र के दौरान, यह पता चला कि गुजरात में सरकारी और अनुदान प्राप्त उच्च माध्यमिक और माध्यमिक विद्यालयों में 9,000 से अधिक शिक्षक के पद खाली पड़े हैं।

राज्य के शिक्षा मंत्री कुबेर डिंडोर ने कांग्रेस विधायक अरविंद लदानी के एक प्रश्न के जवाब में कहा कि मार्च 2023 तक, विशेष रूप से 4,146 राज्य-संचालित और सरकारी सहायता प्राप्त उच्च माध्यमिक विद्यालयों में 5,940 रिक्तियां थीं। इसके अलावा, शिक्षा मंत्री कुबेर डिंडोर ने बताया किया कि मार्च 2023 तक, राज्य-संचालित और सरकारी सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में 3,260 शिक्षक के पद खाली थे। बता दें, यह जानकारी एक अन्य कांग्रेस विधायक गुलाबसिंह चौहान द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में दी गई। आंकड़ों के अनुसार, गुजरात में वर्तमान में कुल 671 सरकारी-संचालित और 3,475 अनुदान प्राप्त उच्च माध्यमिक विद्यालय संचालित हैं।

जानें- कितने शिक्षक के पद हैं खाली

दी गई जानकारी के अनुसार, अहमदाबाद जिले में सबसे अधिक 581 शिक्षक रिक्तियां हैं, इसके बाद खेड़ा में 405 रिक्तियां, अमरेली में 307 रिक्तियां, बनासकांठा में 299 रिक्तियां, सूरत में 283 रिक्तियां और साबरकांठा में 229 रिक्तियां हैं। माध्यमिक विद्यालयों में 3,260 रिक्त पदों में से 796 पद सरकार द्वारा संचालित माध्यमिक विद्यालयों में हैं और 2,464 पद अनुदान प्राप्त विद्यालयों में हैं।

इसके अलावा, स्कूली बच्चों के लिए खेल के मैदानों की उपलब्धता के संबंध में कांग्रेस विधायक गेनीबेन ठाकोर की पूछताछ के जवाब में, कुबेर डिंडोर ने खुलासा किया कि सरकारी और निजी दोनों तरह के विभिन्न मानकों के 6,206 स्कूल बिना किसी खेल के मैदान के संचालित हो रहे हैं।

वहीं शिक्षकों के 9,200 पद खाली होने के बाद उम्मीद जताई जा रही है, गुजरात सरकार जल्द ही शिक्षकों के पदों पर आवेदन की प्रक्रिया शुरू कर सकता है। हालांकि देखना ये है कि आवेदन की प्रक्रिया कब शुरू होती है।

Post Views : 118

यह भी पढ़ें

Breaking News!!