image

बूस्टर डोज का लक्ष्य करें पूरा, मंकीपॉक्स को लेकर रहे सतर्क, हर अस्पतालों में 10 बेड रिजर्व रखें

इंडिया समाचार 24 - लखनऊ

लखनऊ।  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि देश के कुछ हिस्सों में मंकीपॉक्स संक्रमण के बढ़ते केस को देखते हुए प्रदेश में विशेष सावधानी बरती जाए। इसके लक्षण, उपचार और बचाव आदि के बारे में विश्व स्वास्थ्य संगठन और भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार आमजन को सही और समुचित जानकारी देते हुए जागरूक किया जाए। राज्य स्तरीय स्वास्थ्य सलाहकार समिति से परामर्श करें। उन्होंने निर्देश दिया कि कोविड अस्पतालों में न्यूनतम 10 बेड केवल मंकीपॉक्स से प्रभावित मरीजों के लिए आरक्षित रखे जाएं। ये बातें उन्होंने बुधवार को अफसरों के साथ बैठक में कही।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिशा-निर्देशन में ट्रेस, टेस्ट और ट्रीटमेंट और टीकाकरण की रणनीति के सफल क्रियान्वयन से उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण पूरी तरह नियंत्रित है। 34 करोड़ से अधिक कोविड टीकाकरण के साथ ही 15 वर्ष से अधिक आयु की पूरी आबादी को टीके की कम से कम एक डोज लग चुकी है, जबकि 98.78 प्रतिशत से अधिक वयस्क लोगों को दोनों खुराक मिल चुकी है। 15-17 आयु वर्ग के 100.50 प्रतिशत किशोरों और 12 से 14 आयु वर्ग के 99.9 प्रतिशत से अधिक बच्चों को टीके की पहली खुराक दी जा चुकी है। पात्र लोगों को टीके की दूसरी खुराक समय से दिया जाए।

उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण के नए चरण में टीके की 'अमृत डोज' (बूस्टर डोज) दी जा रही है। बूस्टर डोज निःशुल्क है। अब तक 55 लाख लोगों ने निःशुल्क बूस्टर डोज लगवा ली है। बूस्टर डोज के लिए तय 75 दिनों के लक्ष्य के सापेक्ष इसमें तेजी की अपेक्षा है। इसके लिए मिशन मोड़ में प्रयास किए जाने की आवश्यकता है। यह सुनिश्चित कराएं कि प्रत्येक पात्र प्रदेशवासी को मुफ्त बूस्टर डोज जरूर लग जाए।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि सभी शासकीय अधिकारी व कर्मचारी बूस्टर डोज लगवाएं। जनप्रतिनिधियों के सहयोग से आम जन को जागरूक करें। बूस्टर डोज की महत्ता और बूस्टर टीकाकरण केंद्रों के बारे में आमजन को सही जानकारी दी जाए। विविध मीडिया माध्यमों का सहयोग लिया जाना उचित होगा। पब्लिक एड्रेस सिस्टम का अधिकाधिक उपयोग करें। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि विभिन्न राज्यों में कोविड के नए केस में बढ़ोतरी देखी जा रही है। हालांकि उत्तर प्रदेश में पॉजिटिविटी दर न्यूनतम है। विगत दिवस 0.7 प्रतिशत पॉजिटिविटी दर दर्ज की गई। वर्तमान में कुल एक्टिव केस की संख्या 2804 है। 2608 लोग होम आइसोलेशन में स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। विगत 24 घंटों में 74 हजार से अधिक टेस्ट किए गए और 491 नए कोरोना मरीजों की पुष्टि हुई। इसी अवधि में 498 लोग उपचारित होकर कोरोना मुक्त भी हुए। बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा को लेकर हमें सतर्क रहना होगा।

उन्होंने कहा कि बरसात के दिनों में प्रायः सर्पदंश की घटनाएं बढ़ जाती हैं।  ग्रामीण क्षेत्रों में ऐसे मरीजों के त्वरित उपचार की व्यवस्था हो। सीएचसी और पीएचसी पर एंटी स्नेक वेनम की उपलब्धता रहे।

उन्होंने कहा कि लगभग दो वर्ष के अंतराल के बाद इस बार कांवड़ यात्रा हो रही है। बड़ी संख्या में लोग जलाभिषेक के लिए आवागमन कर रहे हैं। यह सुखद है कि कांवड़ यात्रा सुचारू रूप से चल रही है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कावंड़ यात्रा अब अंतिम चरण में है और अब पूर्वी उत्तर प्रदेश में श्रद्धालुओं का जत्था निकलेगा। इसके दृष्टिगत सभी जरूरी प्रबंध किए जाएं।

Post Views : 290

यह भी पढ़ें

Breaking News!!