image

यूपी में फिर गरजा योगी का बुलडोजर, दो मकान और 11 दुकानें धराशाई

यूपी में एक बार फिर योगी का बुलडोजर गरजा है। सुलतानपुर जिले के बिरसिंहपुर बाजार में सड़क के किनारे तालाब की भूमि पर बने दो मकान और 11 दुकानों को अधिकारियों की मौजूदगी में बुलडोजर से ढहा दिया।

यूपी में एक बार फिर योगी का बुलडोजर गरजा है। सुलतानपुर जिले के बिरसिंहपुर बाजार में सड़क के किनारे तालाब की भूमि पर बने दो मकान और 11 दुकानों को गुरुवार को अधिकारियों की मौजूदगी में बुलडोजर से ढहा दिया गया। मकानों के गिरने से इसमें रहने वाले लोग बेघर हो गए और कई लोगों की रोजी रोटी छिन गई। जिनका आवसीय मकान था उन्हें आवास के लिए पट्टा दिया गया है। जिनकी दुकाने थीं उन्हें किसी प्रकार का लाभ नही मिला।

जयसिंहपुर तहसील क्षेत्र के बिरसिंहपुर बाजार में जयसिंहपुर रोड पर करीब तीन दशक पहले इसी गांव के अमीनुद्दीन, रियाजुद्दीन, वृजेन्द्र प्रताप सिंह, राम अवध, निर्मल, मोहम्मद यूनुस, सोहराब, जिबराइल, अब्दुल मजीद, रशीद, राम लुटावन, सन्तराम और विनोद कुमार ने लाखों की लागत से पक्का निर्माण किया था। इसमें रियाजुद्दीन और रशीद का आवसीय व अन्य ग्यारह लोगों ने दुकाने बनाई थीं,दुकानें चल भी रहीं थीं। तालाब में निर्माण किये जाने को लेकर जयसिंहपुर तहसीलदार की कोर्ट पर मुकदमा चल रहा था। इसमें पूर्व में बेदखली की कार्रवाई की गई थी।

हाईकोर्ट के आदेश पर 11 दुकानों और दो मकानों पर एसडीएम संजीव कुमार यादव, तहसीलदार हृदयराम तिवारी, नायब तहसीलदार संध्या यादव, सीओ प्रशांत सिंह, कोतवाल प्रेमचन्द्र सिंह, कानूनगो अनिल सिंह की मौजूदगी में बुलडोजर( जेसीबी मशीन) चलवाकर मकान और दुकानों को ढहा दिया गया। 

एसडीएम संजीव कुमार यादव ने बताया कि तालाब की भूमि पर अवैध निर्माण कर अतिक्रमण किया गया था हाईकोर्ट में रिट दायर हुई थी। हाईकोर्ट के निर्देश पर जांच की गई जिसमें तालाब की भूमि पर अवैध कब्जा पाया गया। बेदखली का आदेश पारित किया गया। कंटेम्प्ट होने पर अवैध निर्माण गिरा दिया गया है।

रियाजुद्दीन व रशीद का आवासीय मकान होने की वजह से उन्हें मकान निर्माण के लिए पट्टा दिया गया है। बिरसिंहपुर बाजार में दो परिवारों को ठंड में बेघर कर दिया गया है। उनकी गलती थी कि इन्होंने 40 सालों से तालाब की जमीन पर कब्जाकर मकान बना रखा था। मकान ढ़हाने के बाद अधिकारी आवासीय पट्टा देने की बात कर रहे हैं। पीड़ित की मानें तो जहां पट्टा दिया जा रहा वह जमीन विवादित है।

यह भी पढ़ें

Breaking News!!