image

दुनिया भर से ख्वाजा गरीब नवाज के दीवाने दरबार गरीब नवाज में अपनी हाजिरी लगाने अजमेर शरीफ जाते हैं

धर्मेंद्र सिंह

आगरा वारसी सिलसिले के गुलाम आने गुलाम हाजी इलियास अख्तर वारसी ने अजमेर शरीफ में महान सूफी संत बादशाह हिंदुस्तान हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती अजमेरी मैं जाकर अपनी हाजिरी पेश की वही आज ही इलियास अख्तर वारसी ने बताया कि दुनिया भर से ख्वाजा गरीब नवाज के दीवाने दरबार गरीब नवाज में अपनी हाजिरी लगाने अजमेर शरीफ आते हैं क्योंकि हम सभी को मालूम है कि आप हजरात ख्वाजा गरीब नवाज रसूले खुदा ने आप ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती अजमेरी को  अताय रसूल का खिताब दिया आप गरीब नवाज मौला अली की जो है आप इमामे हुसैन इमामे हसन के शहजादों में से हैं आप रसूले खुदा ने जिस समय ख्वाजा गरीब नवाज को हिंदुस्तान अजमेर मोआल्ला जाने की इजाजत दी तब हिंदुस्तान में इस्लाम धर्म को पहचाने वाला कोई नहीं था ख्वाजा गरीब नवाज में हिंदुस्तान में आकर दीन इस्लाम को इस तरह से फैलाया की  ला तादाद लोगों ने मेरे मोइनुद्दीन हसन चिश्ती अजमेरी रहमतुल्ला आले के हाथ पर दीन ए इस्लाम कबूल किया। जहां-जहां से आप गरीब नवाज का गुर्जर हुआ वहां से बड़ी ही तादाद में लोग मुस्लिम धर्म अपनाकर आप मोइनुद्दीन के साथ होते चले गए आप गरीब नवाज ने इस्लाम को सिर्फ मोहब्बत से फैलाया क्योंकि रसूले खुदा ने आप गरीब नवाज को बता दिया था कि इस्लाम का सबसे बड़ा ताल्लुक मोहब्बत से है जुल्म जाती आप गरीब नवाज पर काफी तादात में की गई लेकिन गरीब नवाज में रसूले खुदा और अल्लाह का फरमान कायम रखा सच पर आप गरीब नवाज कायम रहे झूठ से अपने परहेज किया दुनिया भर के गरीब नवाज के दीवाने आज भी गरीब नवाज की चौखट को अपना मक्का मदीना मानते हैं आशिक ने गरीब नवाज से मोहब्बत रखना हमारा पहला कर्तव्य होना चाहिए गरीब नवाज के नाम से जितना चाहे आप गरीबों में लग्गत तक्सीम करें क्योंकि गरीब नवाज में अपनी हयाते जिंदगी में अपनी पूरी जयदात गरीबों मिस्किन ओ में  बा अपनी पूरी जिंदगी अल्लाह को राजी करने में लगा दी। दरगाह गेस्ट हाउस के पूरे स्टाफ ने मेरा वा मेरे साथ जाने वालों की जो हौसला अफजाई की हैं उसे में ता उम्र नहीं भूल सकता। आज मुझे गुलाम गरीब नवाज की जो इज्जत अफजाई की है मैं अपनी रहते जिंदगी तक उनकी इज्जत अफजाई को कभी नहीं भूल सकता मेरे साथ जो लोग गरीब नवाज की जियारत करने गए थे उन सभी की भी  गरीब नवाज गेस्ट हाउस वा दरगाह नाजिम के लोगो ने इज्जत अफजाई की जो कि हम सभी गुलाम-ए गरीब नवाज कभी नहीं भूल सकते ख्वाजा गरीब नवाज के दर से जो भी मांगा जाता है वह सभी अताए रसूल के दर से मिलता है मौला अली का करम गरीब नवाज के यहां साफ दिखता है कि कितना करम मौला ए कायनात का गरीब नवाज के दरबार में है मौला अली शेरे खुदा का सदका भी गरीब नवाज से मिलता है हसन हुसैन की भीख भी हम सभी गुलाम को गरीब नवाज के दर से मिलती है गरीब नवाज के दरबार में गुरु गला एम की इज्जत अफजाई करने वालों में मुख्य रूप से हजरत सरफराज चिश्ती हजरत सलीम चिश्ती हजरत शेख मुकीम चिश्ती दरगाह नाजिम वह पीरु मुर्शिद ने हम सभी आगरा वाले गुलामी गरीब नवाज की हौसला अफजाई दरगाह गरीब नवाज में की जिनके हम सभी तहे दिल से शुक्र अदा करते हैं आगरा से अजमेर शरीफ गरीब नवाज हाजिरी लगाने वालों में मुख्य रूप से मोहम्मद जमीन उद्दीन नियाजी बिलाल नियाजी मोहम्मद एजाज जयपुर आदि लोग शामिल थे

Post Views : 114

यह भी पढ़ें

Breaking News!!