image

झूला पै झूलें रानी राधिका जी, मनभावन, सावन का मनाया तीज उत्सव, खूब गायी मल्हार, श्रंगार प्रतियोगिता में जीती बाजी

डीके श्रीवास्तव

आगराः सावन के झूले पड़े हैं, तुम चले आओ.., सावन के झूलों ने मुझको बुलाया.. जैसे गीतों को गाते हुए वैचारिक जागरण मिशन ट्रस्ट ने हरियाली तीज उत्सव मनाया,कार्यक्रम‌का शुभारम्भ डा नीतू चौधरी ने दीप प्रज्जवलन करके किया । जिसमें सभी ने उत्साह के साथ भाग लिया।

हलवाई की बगीची स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर पर आयोजित इस समारोह में महिलाओं ने गाया, झूला पर झूलें रानी राधिका जी। उसके बाद गीत, संगीत का सिलसिला शुरू हो गया। महिलाओं ने जम कर नृत्य भी किया। हरे-हरे हरिधान पहने, सोलह श्रंगार किए महिलाओं ने भारतीय श्रंृगार की रानी प्रतिस्पर्धा में भाग लिया। तंबोला भी खेला। लकी ड्रा में भी बाजी मारी।

ट्रस्ट की संस्थापक अध्यक्ष प्रतिभा जिंदल ने कहा कि सावन अब पेड़ों पर ना तो सावन के झूले पड़ते हैं और ना ही बाग-बगीचों में सखियों की रौनक होती है, जबकि एक जमाने में सावन लगते ही बाग-बगीचों में झूलों का आनंद लिया जाता था। विवाहित बेटियों को ससुराल से बुलाया जाता था। वे मेहंदी लगाकर सावन के इस मौसम में सखियों के संग झूला झूलने का आनंद लिया करती थी और वहीं, बरसती बूंदें मौसम का मजा और दोगुना कर देती थी, लेकिन अब ये परंपरा खत्म होती जा रही है। अब न तो झूले पड़ते हैं और न ही गीत सुनाई देते हैं। इसलिए अब संस्थागत तरीकों से यह आयोजन किए जाते हैं।

कार्यक्रम मे महासचिव दीपिका अग्रवाल कोषाध्यक्ष अनीता मित्तल,उपाध्यक्ष मधुबाला अग्रवाल,मनीषा चौहान,अनुभा उपाध्याय,कोरल अग्रवाल,नीतू मित्तल ,आशा अग्रवाल ममता शर्मा,प्रांजल जिन्दल ,आदि ने व्यवस्थाये संभाली।

Post Views : 327

यह भी पढ़ें

Breaking News!!