लेख साहित्य

बाल कविता का प्रयास

नेता बनना नेता बनना ।
नाना हमको नेता बनना।।
मेरे नेता अटल बिहारी।
उनकी छवि उत्तम अति प्यारी।।

उनके जैसा काम करूँगा।
राजनीति में नाम करूँगा।।
विश्व मंच से मैं बोलूँगा।
समरसता का मधु घोलूँगा।।

हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई।
सबको ही मानूँगा भाई।।
संस्कृति का विस्तार करूँगा।
परंपरा से प्यार करूँगा।।

राष्ट्र धर्म ही धर्म गहूँगा।
कभी नहीं मैं झूठ कहूँगा।।
सच्ची राह सदा मैं चलकर।
मार्ग दिखाऊँ सबको मिलकर।।

पं रामजस त्रिपाठी नारायण

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1351316
Hits Today : 5302