आगरा उत्तर प्रदेश

बद्रीनाथ धाम को बदरुद्दीन शाह का बताने वाले मौलाना को गिरफ्तार करने की मांग

आगरा। संतों की तपोस्थली बद्रीनाथ धाम को लेकर शोसल मिडिया पर एक विडियो वायरल हो रहा है। वायरल विडियो में एक मुस्लिम धर्मगुरु द्वारा हिंदुओ के पवित्र धर्मस्थल बद्रीनाथ धाम को बदरुद्दीन शाह का बताते हुए मुसलमानों को सौंपने और न सौपने पर जबरन कब्जा करने की धमकी दी जा रही है ।
वायरल वीडियो पर कड़ा एतराज उठाते हुए मानवाधिकार एवं सामाजिक न्याय आयोग के चेयरमैन रविंद्र सिंह तोमर ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है ।
उन्होंने कहा है कि वायरल वीडियो में मौलाना भड़काने वाली भाषा बोल रहा है और दो धर्मों के मध्य वैमनस्यता पैदा करने की आपराधिक साजिश कर रहा है।
उन्होंने मजहबी रौब दिखाने वाले मौलाना को सीघ्र गिरफ्तार कर सख्त कार्रवाई की मांग की है ।
आयोग के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष सन्तोष शर्मा ने आज जारी बयान में कहा कि मुस्लिम धर्मगुरु मुसलमानों द्वारा मोर्चा निकालते हुए बद्रीनाथ धाम पर कब्जा करने की धमकी दे रहा है, जो गृहयुद्ध की परिस्थितियां उत्पन्न करने का स्पष्ट साक्ष्य है । ऐसे व्यक्ति पर राष्ट्र द्रोह का मुकदमा दर्ज होना चाहिए ।
सन्तोष शर्मा ने बताया कि मानवाधिकार आयोग के विभिन्न राष्ट्रीय एवं प्रातीय पदाधिकारियों ने वायरल विडियो पर अपनी कठोर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि यदि मुसलमानों ने ऐसा दुस्साहस करने का प्रयास किया तो हिन्दू समाज भारत को मुसलमान विहीन राष्ट्र बना देगा ।
उन्होंने कहा कि मुसलानों ने शुरू से ही हिन्दू धर्मस्थलों को तोड़कर मस्जिदों का निर्माण किया। अब समय आ गया है कि देश की ऐसी सभी मस्जिदों को तोड़कर हिन्दू धर्मस्थलों को मुक्त कराया जाए ।
उन्होंने बद्रीनाथ धाम पर दावा करने वाले मौलाना को चुनोती देते हुए कहा कि ताजमहल शिव मंदिर है, हिन्दू समाज श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या की तर्ज पर शिव मंदिर को भी मस्जिद के कलंक से मुक्त कराएगा ।
सन्तोष शर्मा ने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या का न्यायिक मुकदमा हारने के बाद मुस्लिम समाज बौखला गया है और बद्रीनाथ धाम पर अनाप शनाप बयान दे रहे हैं ।

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1252598
Hits Today : 4887