आगरा उत्तर प्रदेश

पति को खोने के बाद पाई-पाई को मोहताज हुआ परिवार, अब सीएम योगी से लगायी मदद की गुहार

आगरा। कोरोना महामारी के दौरान 23 अप्रैल को सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी एक तस्वीर, ऑटो में बैठी महिला अपने पति की जान बचाने के लिए मुंह से दे रही थी सांस,तमाम प्रयास के बाद भी अस्पताल में नहीं मिली भर्ती तो पति ने तोड़ दिया था दम,पेठा बेचकर परिवार चलाते थे पति, आज पाई-पाई को मोहताज है परिवार

47 वर्षीय रवि पेठे बेचकर परिवार पालते थे। कोरोना और लॉकडाउन में वह भी बंद हो गया। परिवार के पास कोई बचत नहीं है। रेनू ने कहा, ‘मैं पेट भरने तक के लिए कुछ नहीं कर पा रही। मुझे अपनी बेटी के लेकर चिंता है। मैं सीएम योगी आदित्यनाथ से अनुरोध करती हूं कि हमारी कुछ मदद करें।’ रेनू अपने बच्चों के साथ आगरा के आवास विकास कॉलोनी में 2,500 रुपये महीने किराए के एक छोटे से मकान में रहती है। वह टूट चुकी है। 43 वर्षीय रेनू ने कहा, ‘मेरी बेटी भूमि 16 साल की है, जो दसवीं कक्षा की छात्रा है। मेरे पति परिवार के एकमात्र कमाने वाले थे।’ परिवार के पास राशन कार्ड या आयुष्मान भारत कार्ड नहीं है। महामारी के कारण उसे नौकरी नहीं मिल रही है।

Live TV

GMaxMart.com

Our Visitor

1209304
Hits Today : 341